कश्मीर भारत का था, भारत का है, भारत का ही रहेगा पाकिस्तान से POK पर होगी बात : पीएम मोदी

0
12478

l h

 

कश्मीर के वर्तमान हालात पर कार्यवाही के लिए केंद्र सरकार द्वारा बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री मोदी ने सभी दलों से कश्मीर के हालात सामान्य करने पर विचार विमर्श किया, विपक्ष ने कश्मीर के हालात सामान्य करने के लिए विश्वास बहाली के कदम उठाने की मांग की है, साथ ही पैलेट गन के इस्तेमाल को बंद करने और इसके अलावां कश्मीर में AFSPA को समाप्त करने सम्बंधित पक्षों जिसमे अलगाववादी भी शामिल हैं से वार्ता करने की भी मांग विपक्ष द्वारा की गयी |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) जम्‍मू-कश्‍मीर का ही भाग है. उन्‍होंने कहा कि सरकार को विदेशों में रह रहे पीओके के निर्वासित लोगों से संपर्क करना चाहिए और उनसे बात की जानी चाहिए, पीएम ने कहा, जम्‍मू-कश्‍मीर के चार हिस्‍से हैं, कश्‍मीर, लद्दाख, जम्‍मू और पाकिस्‍तान अधिकृति कश्‍मीर, उन्‍होंने बलूचिस्‍तान सहित पाकिस्‍तान के अन्‍य हिस्‍सों में हो रहे मानवाधिकार उल्‍लंघन का भी जिक्र किया |

उन्होंने कहा हम पॉलिटिकल वकर्स का अस्तित्व तो लोगों की वजह से ही है, ये हमारी ताकत हैं, हमारी ऊर्जा का स्रोत हैं. वास्तव में, जनशक्ति हमारे सार्वजनिक जीवन का अहम हिस्सा हैं, चाहे कोई भी हताहत हो, नागरिक हों या फिर सुरक्षा बल, दुख हम सब को होता है. उनके परिवारों के साथ मेरी पूरी सहानुभूति है. घायल हुए लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और साथ ही हम जल्द से जल्द घाटी में शांति स्थापित करना चाहते हैं ताकि यहां के लोग अपना सामान्य जीवन जी सकें, अपनी रोजी-रोटी कमा सकें, अपने बच्चों को पढ़ा सकें और रात में सुकून से सो सकें |

इससे पहले आज लोकसभा ने भी कश्मीर की स्थिति पर एक प्रस्ताव पारित किया और वहां लंबे समय से जारी कर्फ्यू, हिंसा तथा लोगों के मारे जाने पर गंभीर चिंता प्रकट की। लोकसभा ने कहा कि यह दृढ़ विचार है कि भारत की एकता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं हो सकता।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here