खेत में छत -विछत मिला 15 मार्च को अपहृत नाबालिग का शव

0
279

कन्नौज : यूपी में लॉ एण्ड आर्डर जैसे मानो खत्म सा हो गया हो। जी हां क्योंकि उन्नाव में लगातार जुर्म और अपराध दिन पर दिन बढ़ते जा रहे है। रेप हत्या और डकैती जैसी घटनाओ को अपराधी रोजाना अंजाम दे रहे है। लेकिन यूपी के कन्नौज जिले में 4 दिन से लापता कक्षा 5 की नाबालिक छात्रा का शव छत विछत अवस्था में एक खेत में मिलने से हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि छात्रा का अपहरण 15 मार्च को उस वक्त हुवा जब वह अपने भाई के साथ गाँव से दूर जंगल में बेर खाने गयी थी तभी किसी अज्ञात ने उसका अपहरण कर लिया था। अपहरण की बात मृतक छात्रा के भाई ने बतायी। वही पीड़ित परिजन ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है पुलिस ने समय रहते कड़ी कार्यवाही नही की।

घटना सदर कोतवाली के डेगन पुरवा गाँव की है यहाँ पीड़ित विजय की 11 वर्षीय बेटी रागनी 15 मार्च को सुबह अपने चचेरे भाई राहुल के साथ गांव से कुछ दुरी पर जंगल में बेर खाने गयी थी वही अज्ञात युवक ने रागनी का मुह दबाकर उसका अपहरण कर लिया पूरी घटना ने उसके चचेरे भाई राहुल ने देखि। राहुल ने पूरी घटना जब घर में बतायी तो पूरा गाँव छात्रा की तलाश में निकल पड़ा। लोगो ने इसकी सुचना पुलिस को भी दी मौके पर पहुची पुलिस ने लोगो के बताये ठिकानों पर छापा मारा। लोगो का आरोप था की पुलिस मामले को गंभीरता से नही लिया और जिस तरह से कार्यवाही करनी चाही थी वो नही की अगर पुलिस समय रहते कड़ी कार्यवाही कर लेती तो बच्ची की जान बच जाती। म्र्तक रागिनी का शव गाँव से कुछ दुरी पर राई के खेत में उस दौरान मिला जब फसल की कटाई कर रहे किसानों को कुत्तो की लड़ने व बदबू आयी जब किसान ने पास जाकर देखा तो छत विछत अवस्था में शव पड़ा हुवा था शव को देखकर ऐसा लग रहा था की उसके चेहरे पर तेजाब डाला गया है। पीड़ित परिजनों का कहना था कि रागनी के साथ गलत काम कर उसकी हत्या कर दी गयी। शव की शिनाख्त छुपाने के लिए उसके चेहरे पर तेज़ाब डाला गया है।

रिपोर्ट – सुरजीत सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here