पाकिस्तान के वहशीपन का कोई अंत नहीं, भारतीय कैदी के मृत शरीर से गायब किये दिल और अमाशय

0
338

दिल्ली- पाकिस्तान में पिछले 25 सालों से सजा काट रहे भारतीय कैदी किरपाल सिंह की रहस्यमय परिस्थियों में मौत बीते सोमवार को मौत हो गयी थी जिसके बाद मंगलवार को किरपाल सिंह के मृत शरीर को बाघा सीमा से भारत लाया गया और उनके परिजनों को सौंप दिया गया I

अमृतसर पहुँचने पर ही किरपाल सिंह के भतीजे ने अपने चाचा का पुनः पोस्टमार्टम करवाए जाने की अपील की थी जिसके बाद अमृतसर के सरकारी मेडिकल कॉलेज में उनका पुनः पोस्टमार्टम किया गया I मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर बी.एस.बल ने किरपाल सिंह के शव का पोस्टमॉर्टम किया। उन्होंने बताया कि पोस्टमॉर्टम जांच में पाया गया कि किरपाल का दिल और लीवर गायब था। हालांकि शव पर किसी तरह की अंदरुनी या बाहरी चोट नहीं पाई गई। हम उनकी किडनी और लीवर के नमूने प्रयोगशाला की जांच के लिए अमृतसर से बाहर भेजेंगे ताकि उसकी मौत से जुड़े बाकी तथ्यों का पता लगाया जा सके। पाकिस्तान ने पोस्टमॉर्टम के दौरान गुर्दे और लीवर का कोई नमूना नहीं लिया था,जो मौत की सही वजहों का पता लगाने के लिए जरूरी है। पाकिस्तान ने अभी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं भेजी है। लाहौर की कोट लखपत जेल में 11 अप्रेल को किरपाल सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पाकिस्तान का कहना है कि दिल का दौरा पडऩे से उनकी मौत हुई थी।

जानें कौन थे किरपाल सिंह –
पंजाब के गुरदासपुर के रहने वाले किरपाल सिंह 1991 में अचानक से अपने घर से गायब हो गए थे और उसके बाद वो कभी अपने घर वापस नहीं आये I कुछ दिन बाद उनका एक पत्र घर वालों को मिला था जिसमें ये लिखा गया था कि वो पाकिस्तान कि जेल में बंद है I

उधर किरपाल सिंह के भतीजे अश्विनी कुमार का कहना है कि उनके चाचा ने गायब होने से पहले 13 सालों तक भारतीय सेना में नौकरी की थी I बता दें किरपाल सिंह को 1991 में पाकिस्तान में हुए बम धमाकों में आरोपी बनाया गया था जिसके बाद पाकिस्तान की एक कोर्ट ने उन्हें 60 साल की कैद की सजा सुनाई थी और साथ ही 27 लाख रूपये जुर्माने के तौर पर लगाए गए थे I

लेकिन जब तक वो छूटते उससे पहले ही उनकी संदिग्ध परिस्थितयों में मौत हो गयी I फिलहाल किरपाल सिंह पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद थे I

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here