किसान का शोषण किसी भी स्तर पर बरदाश्त नहीं किया जायेगा जिलाधिकारी

0
93

मैनपुरी (ब्यूरो)- किसान का शोषण किसी भी स्तर पर बरदाश्त नहीं किया जायेगा, किसानो को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए प्रदेश सरकार बचनबद्ध है यदि किसानो को उनकी उपज का वाजिब मूल्य नहीं मिला और किसी आढ़तिये द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य 1625 प्रति कुन्टल की दर से कम में गेहूं खरीदा तो दोषी के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही होगी साथ ही निर्धारित मूल्य से कम दर पर खरीद करने वाले आढ़तियो के लाइसेन्स निरस्त किये जायेगें।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी चन्द्र पाल ंिसंह ने देते हुए कहा कि किसानो का गेहूं खरीदने हेतु जनपद में 56 क्रय केन्द स्थापित किये गये हैंै,जिन पर 01 अपै्रल से 15 जून 17 तक किसानो का गेहूं खरीदा जायेगा। उन्होने बताया कि गेहूं क्रय करने पर किसानो से 10 रू. प्रति कुन्टल की दर से उतराई,छनाई नकद लिया जायेगा। किसान को खरीदे गये गेहूं का भुगतान आरटीजीएस के माध्यम से तत्काल किया जायेगा। उन्होने बताया कि जनपद का गेहूं क्रय लक्ष्य 540000 कुन्टल निर्धारित किया गया है सभी गेहूं क्रय केन्द्र रविवार एवं राजपत्रित अवकाश को छोड़कर जिला प्रशासन सभी किसानो को गेहूं का समर्थन मूल्य दिलाने के लिए कटिबद्ध है उन्होने किसानो से कहा कि वह अपना गेहूं 1625 रू. प्रति कुन्टल से कम दर पर कदापि न बेंचे ,यदि कोई आढ़तिया इससे कम दर पर खरीदे तो संज्ञान में लाये उसके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जायेगी।

श्री सिंह ने बताया कि गेहूं क्रय हेतु खाद्य विभाग के 07, पीसीएफ के 42, यू.पीस्टेट एगो 03,कर्मचारी कल्याण निगम के 02, एवं भारतीय खाद्य निगम के 02 केन्द्र बनाये गये है। उन्होने कहा है कि यदि किसी किसान को गेहूं विक्रय के संबंध में कोई समस्या हो तो अपनी शिकायत जिला खाद्य विपणन अधिकारी के मोबाइल नं0 7839564942 पर दर्ज करा सकते है।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here