संसद में असहिष्णुता पर चर्चा में बोले PM, किसी को भी देशभक्ति साबित करने की आवश्यकता नहीं

0
333

दिल्ली- संसद में असहिष्णुता पर हो रही चर्चा के दौरान पेरिस से जलवायु सम्मलेन से भाग लेकर वापस लौटे प्रधानमंत्री ने राज्य सभा में चर्चा के दौरान अपने भाषण में कहा है कि 125 करोंड नागरिकों में से एक किसी को भी देश के भीतर अपनी देशभक्ति को प्रमाणित करने की आवश्यकता नहीं है I प्रधानमंत्री श्री मोदी ने राहुल गाँधी के सवालों का जावाब देते हुए कहा है कि देश के किसी भी नागरिक की देशभक्ति के ऊपर कोई प्रश्नचिन्ह भी नहीं लगा सकता है I

वही असहिष्णुता पर लोकसभा में जारी चर्चा के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने सरकार के ऊपर निशाना साधते हुए कहा है कि देश के भीतर कट्टरपंथियों ने कई लोगों को मौत के घात उतार दिया है और प्रधानमंत्री खामोश है I राहुल गाँधी ने अपने भाषण के दौरान सरकार को सलाह देते हुए कहा है कि सरकार को पाकिस्तान से गलत चीजें सीखने की आवश्कयता नहीं होनी चाहिए I राहुल गाँधी ने कहा है कि आज देश के भीतर यदि कोई भी व्यक्ति विरोध करता है तो फ़ौरन उसे देशद्रोही कह दिया जाता है I

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मोदी सरकार के विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह के ऊपर निशाना साधते हुए कहा है कि दलितों को कुत्ता कहने वाले केंद्रीय मंत्री को मोदी सरकार ने बर्खास्त नहीं किया है I

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए राज्यसभा में कहा है कि भारत के 125 करोंड में से किसी भी व्यक्ति की देशभक्ति पर किसी भी प्रकार का कोई भी प्रशनचिंह नहीं लगा सकता है और न ही कोई इस पर संदेह ही कर सकता है I प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि किसी को भी हर समय अपनी देशभक्ति को प्रमाणित करने की भी कोई आवश्यकता नहीं है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

twelve − 9 =