भारत विरोधी बयानबाजी करने वाले केपी ओली ने नेपाल के प्रधानमंत्री पद से दिया स्तीफा

0
568

KP OLI

काठमांडू- नेपाल की आठवीं सरकार के प्रधानमंत्री केपी ओली ने अपने खिलाफ संसद में अविश्वास प्रस्ताव पारित होने से पहले ही प्रधानमंत्री पद से स्तीफा दे दिया है | बता दें कि पिछले 10 वर्षों में यह नेपाल में 8 वीं सरकार थी | बहरहाल अब नेपाल में राजनैतिक संकट कुछ समय के लिए फिर गहरा गया है | हालाँकि आशा जताई जा रही है कि जल्द ही माओवादी नेता पुष्प दहल कमल उर्फ़ प्रचंड नेपाल के नए प्रधानमंत्री बन सकते है |

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी को अपना स्तीफा भेज दिया है जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार भी कर लिया है | राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने केपी ओली से जबतक देश में कोई नया प्रधानमंत्री नहीं बन जाता है तब तक कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने रहने का निवेदन किया है |

गठबंधन सरकारों ने वापस ले लिया था समर्थन –
बता दें कि केपी ओली की सरकार नेपाल में समर्थन के साथ बनी थी | लेकिन आपको बता दें कि माओवादी नेताओं ने गठबंधन सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है |

ओली ने इस्तीफा उस वक्त दिया जब सत्ता में साझेदार दो अहम पार्टियों – मधेसी पीपुल्स राइट्स फोरम-डेमोक्रेटिक और राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी ने नेपाली कांग्रेस और प्रचंड की अगुवाई वाली सीपीएन-माओइस्ट सेंटर की ओर से उनके खिलाफ पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने का फैसला किया |
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY