कांग्रेस पर भड़के बीजेपी के संसदीय कार्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, बोले क्यों आप लोग हमेशा अपनी बेईज्जती करवाने पर तुले रहते हो, जो बची खुची इज़्ज़त है वो भी नहीं रहेगी

0
674

नई दिल्ली- अगस्टा वेस्टलैंड मामले को लेकर आज संसद में जमकर हंगामा हुआ | लोकसभा के दोनों ही सदनों में कांग्रेस के सांसदों ने प्रधानमंत्री के उस बयान पर बवाल कर दिया जिसे प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु और केरल में अपने चुनाव के भाषण में दिया था | दरअसल प्रधानमंत्री हाल ही में तमिलनाडु में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि, “अगस्टा वेस्टलैंड मामले में मैंने किसी को दोषी नहीं ठहराया है, अरे उन्हें तो इटली की एक अदालत ने दोषी ठहराया है और इटली में तो आप लोग जानते ही है कि मेरा कोई रिश्तेदार तो बैठा नहीं |”

प्रधानमंत्री के इसी बयान पर भड़क गए कांग्रेसी –
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के चुनावी भाषण के ऊपर कांग्रेस ने संसद के भीतर रोष ब्यक्त करते हुए कहा है कि वे संसद तो नहीं चलने देंगे | जब तक कि प्रधानमंत्री खुद सदन में आकर इस मामले पर सफाई नहीं देते है | सदन के उपरी हिस्से यानी राज्य सभा में आज शून्यकाल और प्रश्नकाल दोनों ही इस बवाल के कारण नहीं चल सके |

कांग्रेस सदस्यों का कहना था कि जब राज्यसभा और लोकसभा में पिछले सप्ताह वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा मुद्दे पर हुई चर्चा के जवाब में रक्षा मंत्री ने सरकार का पक्ष रखा था तब उन्होंने यह नहीं कहा था कि इतालवी अदालत ने कांग्रेस अध्यक्ष का नाम लिया है | फिर प्रधानमंत्री इस तरह के आरोप कांग्रेस अध्यक्ष के ऊपर कैसे लगा सकते हैं |

राज्यसभा में शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस के नेता और सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड सौदा मुद्दे पर चर्चा के दौरान लोकसभा या राज्यसभा में किसी भी सदस्य ने यह नहीं कहा कि संप्रग नेतृत्व ने कोई रकम ली | उन्होंने कहा कि हम शुरुआत से ही मांग कर रहे है कि इस मामले में जिस भी नेता या अधिकारी दोषी पाया जाता है, उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए | आजाद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल और तमिलनाडु में चुनावी रैलियों में कहा है कि यह उनका बयान नहीं है बल्कि खुद इतालवी अदालत ने कहा है कि इस मामले में सोनिया दोषी हैं |

कांग्रेस के आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री को सदन में आना चाहिए और बताना चाहिए कि उन्होंने बाहर ऐसा बयान क्यों दिया, वह भी तब, जब संसद का सत्र चल रहा है | शर्मा ने इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए नियम 267 के तहत कामकाज निलंबित करने के अपने नोटिस का उल्लेख किया लेकिन कुरियन ने उनका नोटिस नकार दिया | इस पर असंतोष जाहिर करते हुए कांग्रेस सदस्य आसन के समक्ष आ कर प्रधानमंत्री के खिलाफ नारे लगाने लगे |

उपसभापति ने कहा कि हम कुछ नहीं कर सकते है, प्रधानमंत्री का जवाब आप दीजिये –
कुरियन ने कहा कि प्रधानमंत्री के बारे में सदस्य कह रहे हैं कि उन्होंने संसद के बाहर कुछ कहा है तो कांग्रेस पार्टी भी इसका बाहर ही जवाब दे सकती है | उन्होंने कहा ‘‘आसन इसका संज्ञान नहीं ले सकता | मैं कुछ नहीं कर सकता | क्या राजनीतिक भाषणों के लिए आसन जिम्मेदार है ?’’ उप सभापति ने आसन के समक्ष आ कर हंगामा कर रहे कांग्रेस सदस्यों से अपने स्थानों पर लौट जाने और शून्यकाल चलने देने को कहा | आनंद शर्मा ने सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री सीबीआई जांच को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि जांच एजेंसी उनके अंतर्गत आती है |

क्यों आप लोग हमेशा अपनी बेईज्जती करवाने पर तुले रहते हो –
कांग्रेस सांसदों ने जैसे ही मोदी झूठा है के नारे लगाना सदन के भीतर शुरू किया उसके तुरंत बाद ही संसदीय कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी अपने स्थान पर खड़े हुए और उन्हें उपसभापति से कहा कि आप इन्हें प्लीज रोक लीजिये नहीं तो नारे बाजी करनी हमें भी आती है | उन्होंने कहा ‘‘प्रधानमंत्री ने जो कुछ भी कहा, वह पूरी दुनिया जानती है | उन्होंने वही कहा जो इतालवी अदालत ने कहा है |’’ साथ ही नकवी ने कांग्रेस सांसदों की तरफ इशारा करते हुए यह भी कहा है कि, “क्यों आप बार बार अपनी बेइज़्ज़ती कराने पर तुले हैं। जो बची खुची इज़्ज़त है वो भी नहीं रहेगी। जो बची खुची कलई है, हम वो भी खोल देंगे |” संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस विवादित सौदे की जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा और किसी बेकसूर को हाथ नहीं लगाया जाएगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here