सच्चे मन व लगन से पूजन करने वालों को मिलता है फल

0
38

हरदोई(ब्यूरो) – ऐसा मानना है कि सावन के माह में भगवान भोलेनाथ की आराधना पूजा करना काफी शुभफलदायी होती है| भगवान भोलेनाथ की कृपा होते ही सारे काम बन जाते है| कहते है कि सावन में यदि कोई भक्त पूरे माह भूखों को भोजन कराता रहे तो उसे आजीवन कभी अन्न की कमी नहीं होगी| भोले भंडारी अपने भक्तों को कभी भी निराश नहीं करते, वह हमेशा उनकी मनोकामना को पूरी करने में तत्पर रहते हैं| भगवान भोले नाथ का अभिषेक करने के लिए बड़ी संख्या में कांवरिए शिवालयों की ओर रविवार को रवाना हुए गोला गोकरनाथ और सकाहा जाने के लिए आज बड़ी संख्या में कांवरिए जत्थे के रूप में शहर से निकले।

सावन माह के दूसरा सोमवार के अवसर पर 17 जुलाई को शिवालयों में अच्छी खासी भीड़ रहेगी| आर्चाय अशोक मिश्रा शास्त्री कहना है कि सावन मास भर यदि भगवान की कृपा पानी हो और अपने कष्टों का निवारण करना हो तो रोज सुबह जल्दी उठे, समीप के मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक करें, काले तिल अर्पित करें इसके बाद मंदिर में बैठकर कुछ देर ऊं नम: शिवाय का जाप अवश्य करें। शास्त्री का कहना है कि यही नहीं यदि किसी के विवाह मेेंं कोई अड़चन आ रही है तो इसको लेकर शिव पुराणों में उपाय बताए गए हैं| भगवान की शिवलिंग पर केसर मिलाकर दूध चढ़ाएं, विवाह के योग जल्दी बनेगें| रोज किसी नदी या तालाब जाकर आटे की गोलियां मछलियों को खिलाए, धन की प्राप्ति के अवसर अवश्य प्राप्त होंगे| इसी क्रम में यदि सावन मास में रोज नंदी यानी बैल को हरा चारा खिलाए तो घर मेें सुख समृद्धि व वैभव आएगा| इसी क्रम में उनके द्वारा बताया गया कि पूरे सावन माह यदि रोज गरीबों को भोजन कराते रहे तो इससे आपके घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं आएगी| प्रतिदिन 21 बेलपत्र पर चंदन से ऊं नम: शिवाय लिखकर चढ़ाने वाले भक्त की मनोकामनाएं पूर्ण होना|

रिपोर्ट- बाल्मीकि वर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY