अडवाणी ने दी भारतीय जनता पार्टी को नसीहत, कहा जब मेरे ऊपर हवाला कांड का आरोप लगा था, मैंने तुरंत स्तीफा दे दिया था

0
411

पूर्व आई.पी.एल. कमिश्नर ललित मोदी को कथित तौर पर मदद देने के विवादों में घिरी भारतीय जनता पार्टी की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री वशुन्धरा राजे पूरी तरह से फंसी हुई हैं, हालाँकि भारतीय जनता पार्टी के अधिकतर नेता उनके समर्थन में बात करते हुए दिख रहे हैं लेकिन कांग्रेस अभी भी इन दोनों के स्तीफे की मांग कर रही हैं I

लाल कृष्ण अडवानी
लाल कृष्ण अडवानी

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के हिसाब से कहा गया हैं कि भाजपा के पूर्व दिग्गज नेता और भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक श्री लालकृष्ण अडवानी ने इस पर पूरे प्रकरण पर एक अप्रतक्ष तौर पर भारतीय जनता पार्टी की दोनों नेताओं को और पार्टी को नसीहत देते हुए कहा हैं कि जब हम सार्वजानिक जीवन में होते हैं तब हमें हमेशा लोगों के भरोसे और अपनी सत्यनिष्ठा के प्रति सजग रहना पड़ता हैं I
पूर्व दिग्गज नेता और पूर्व प्रधानमंत्री श्री अडवाणी ने अपने उस समय को याद करते हुए कहते हैं कि जब मेरे ऊपर हवाला कांड का आरोप 1996 में लगा था तब तुरंत ही मैंने संसद की सदस्यता से स्तीफा दे दिया था और जब मुझे जाँच प्रक्रिया से क्लीन चिट मिल गयी थी और तब ही मैं 1998 में संसद के लिए पुनः निर्वाचित हुआ था I

पत्रकारों ने जब उनसे पूछा की क्या वह सुषमा स्वराज या फिर वशुन्धरा राजे के बारे में कुछ कहेंगे तो इस पर साफ़ इनकार करते हुए श्री अडवानी जी ने कहा हैं कि मैं अब इन सभी चीजों से बहुत दूर हूँ और इसलिए मुझे इन सभी चीजों पर टिपण्णी करने का अधिकार भी नहीं हैं I आपको बता दें कि जिस समय श्री अडवानी जी के ऊपर हवाला कांड का आरोप लगा था उन्होंने तुरंत ही संसद सदस्य पद से स्तीफा दे दिया था I

अख़बार के ऑनलाइन सस्करण में छपी खबर के अनुसार श्री अडवानी जी कहते हैं कि जिस समय मेरे ऊपर जैन डायरी के आधार पर यह आरोप लगा था कि मैं भी हवाला कांड में संलिप्त हूँ मैंने तुरंत ही स्तीफा देने का निर्णय ले लिया था और बाद में मैंने जब इस सबंध में श्री बाजपेई जी को फ़ोन पर जानकारी दी थी तो उन्होंने मुझसे ऐसा न करने के लिए कहा भी था लेकिन मैंने किसी की नहीं सुनी थी और मैंने स्तीफा दे दिया था, मैंने बाजपेई जी से कहा था कि लोग हमारे लिए वोट करते है इसलिए हमें भी अपनी सत्यनिष्ठा को बरकरार रखने के लिए ऐसा करना चाहिए I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

11 + nineteen =