मकान मालिक के पुत्र ने चलायी गोली, किशोरी की मौत, पिता व पुत्री घायल

उरई/जालौन (ब्यूरो) नगर के मोहल्ला रामनगर झांसी रोड पर अचानक शाम पांच बजे के लगभग मकान मालिक के पुत्र द्वारा तमंचा से चलायी गयी गोली से जहां किरायेदार की बड़ी पुत्री की मौके पर मौत हो गयी तो वहीं बचाव में आये पिता व उसकी छोटी पुत्री भी गोली लगने से घायल हो गयी जिन्हें उपचार के लिये जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे से तमंचा बरामद कर लिया साथ ही मृतका की मां से घटना के संबंध में जानकारी लेने का प्रयास कर रही थी। घटना के बाद से ही किरायेदार की सबसे छोटी पुत्री तो अपनी सुधबुध ही खो बैठी।

मिली जानकारी के अनुसार सदर कोतवाली क्षेत्र के झांसी रोड स्थित रामनगर में पुराने मलेरिया आफिस के समीप रमेश खरे के मकान में दयाशंकर अपने परिवारजनों के साथ पिछले दो साल से रह रहे थे। बताया जाता है कि आज शुक्रवार की शाम लगभग पांच बजे जब दयाशंकर अपने परिवारजनों के साथ अपने कमरे में बैठे बाचतीत कर रहे थे उसी दौरान मकान मालिक का पुत्र अपने हाथ में तमंचा लेकर आ धमका और जब तक दयाशंकर कुछ समझ पाते उसने उसकी सबसे बड़ी पुत्री दीक्षा 16 वर्ष को निशाना बनाकर गोली चला दी जो उसके शरीर को चीरते हुये निकल गयी। इसके बाद उसने दूसरी गोली चलायी जो दयाशंकर के पेट में व छोटी पुत्री अंशिका के हाथ की उंगलियों को लहुलुहान कर निकल गयी। अचानक गोली चलने की आवाज सुनकर जहां आसपास के लोग अनहोनी घटना घटित होने से सहम गये उसी दौरान रमेश खरे के मकान से चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर जैसे ही मोहल्लेवासी मौके पर पहुंचे तो कमरे के फर्श पर दीक्षा का शव खून से लथपथ अवस्था में पड़ा देखा तो वह आवाक रह गये तो वहीं दयाशंकर व उसकी पुत्री अंशिका भी बदहवास की अवस्था में कमरे में मौजूद थे वहीं पास में उसकी सबसे छोटी पुत्री व मां जोर-जोर से चीखते हुये कह रही थी कि उसकी पुत्री को मकान मालिक के पुत्र ने गोली मारकर भाग गया था।

जैसे ही उक्त घटना की जानकारी मोहल्लेवासियों ने कोतवाली पुलिस को दी मौके पर सीओ सदर संतोष, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र कुमार द्विवेदी, महिला थानाध्यक्ष नीलेश कुमारी, डिप्टीगंज चौकी प्रभारी मुकेश दलबल के साथ मौके पर जा पहुंचे। जैसे ही पुलिस मौके पर पहुंची तो मौके पर बड़ी संख्या में तब तक मोहल्लेवासी एकत्रित हो गये थे। बताया जाता है कि जैसे ही पुलिस उस कमरे में पहुंची तो फर्श पर दीक्षा 16 वर्ष का खून से लथपथ शव पड़ा मिला जबकि वहीं पास में मृतका का पिता दयाशंकर जिसके पेट में गोली लगी थी व उसकी बीच की पुत्री अंशिका जिसके हाथ में गोली लगी थी वह भी फर्श पर बेहोशी की अवस्था में पड़े मिले जबकि मृतका की मां व सबसे छोटी बहिन बदहवास की अवस्था में मिले। पुलिस ने मौके से घटना में प्रयुक्त तमंचा मौके से बरामद कर घायल पिता व पुत्री को उपचार के लिये जिला अस्पताल में भर्ती कराया साथ ही घटना के संबंध में मृतका की मां व सबसे छोटी बहिन से पूंछतांछ कर रही थी। समाचार लिखे जाने के समय तक घटना के संबंध में जब सीओ सदर संतोष से जानकारी करने का प्रयास किया तो उनका कहना था कि घटना किन कारणों के चलते घटित हुयी है उसकी असली वजह जानने का प्रयास कर रही है। जब तक स्थिति साफ नहीं हो जाती है तब तक इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। तो वहीं मोहल्लेवासी भी घटना के संबंध में सही जानकारी न होने की बात कहते सुने गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here