राजस्व कर्मियों के साथ मिलकर भू-माफिया सरकारी जमीनों को कब्जाने में जुटे

0
91

सुल्तानपुर (ब्यूरो)- राजस्व कर्मियो की मिलीभगत के चलते कीमती जमीनों के कब्जाने का धंधा जिले में काफी फल फूल रहा है। राजस्व महकमे के इन जिम्मेदारों की शह पर दबंगों को एक साजिश के तहत कब्जाई जा रही सरकारी जमीन बाद में साठ गांठ कर मुकदमा दर्ज करा दिया जाता है।

आपको बता दें कि जिले की बल्दीरॉय तहसील अन्तर्गत कई गांवों में ऐसे मामले प्रकाश में आए है। जिसमे खारा का पुरे लौटन, ऐंजर, चंदौर समेत दर्जनो गावो में हाबी है भू माफिया| तहसील बल्दीराय में राजस्व कर्मियो की मिली भगत से सरकारी व् सुरछित जमीनों पर कब्जे का खेल बेख़ौफ़ जारी है। भू माफिया जहाँ राजस्व कर्मियो के साथ सांठ गांठ कर बेसकीमती जमीनों पर कब्ज़ा कर रहे है तो वही राजस्व कर्मी भी मोटी रकम लेकर लंबे रकबे की कब्जाई जमीन के जुज भाग पर मामूली कार्यवाही कर इस गोरख धंधे में संलिप्त हो रहे है।

बानगी के तौर पर खारा गांव को ही ले एक पुरवा पूरे लौटन में ही सैकड़ो एकड़ सरकारी जमीन दबंगो के कब्जे में है। जिस पर ठोस कार्यवाही के बजाय हल्का लेखपाल मोटी रकम लेकर इन्हे सुरछित कर रहे है। एकही जमीन पर दीवानी में भी बाद योजित है तो उसी पर लेखपाल भी 122बी की कार्यवाही कर अपनी जिम्मेदारी से बचने का पूरा प्रयास कर रहे है। हलाकि भू माफियाओ पर मेहरवानी से कब तक राजस्व महकमा बचता रहेगा यह ग्रामीणों में यछ प्रश्न बना है तो मरने मारने पर उतारू इन भू माफियाओ का डर कब तक प्रसासन में रहेगा या फिर इस तरह की हलकी कार्यवाही कर कब तक रच्छक के बजाय भच्छक बन राजस्व महकमा इन भू माफियाओ पर कब तक मेहरवान रहेगा |

इसको लेकर ग्रामीणों में चर्चाओं का बाजार गर्म है।अबैध कब्जे की यह नजीर तो सिर्फ बानगी भर है गौर करें तो चंदौर,ऐंजर,समेत दर्जनों गांवों में सक्रिय भू माफियाओ के चलते सरकारी जमीनों के अस्तित्व पर संकट बरक़रार है।

रिपोर्ट- संतोष यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY