आईये जुर्माने की रसीद कटवाईये और चलते बनिये की तर्ज पर हो रही वाहनों की चेकिंग 

0
64

चिलकहर/बलिया : जैसे तैसे जमाना बदल रहा है पुलिस के वाहन चैकिंग का तरीका भी बदलकर सिर्फ जुर्माने तक सिमटता जा रहा है यह कोई कहानी नही बल्कि हकीकत है जो इन दिनो दोपहिया व चार पहिया वाहनों के चैकिंग के दौरान देखने को मिल रहा है इससे अछुता रसड़ा तहसील का कोई भी थाना नही है एक तरह से वाहनों के चैकिंग के नाम पर कागजी कोरम पुरा होता दिख रहा है। 

यह हाल गड़वार-पकड़ी,नगरा व रसड़ा के संवरा पुलिसिंग का है जहां पर वाहन चैकिंग के नाम पर सिर्फ जुर्माने काटने की प्रथा चल रही है जबकि वाहन किस प्रकार का है इसकी परवाह तक नही हां कभी एसटीएफ तो एसओजी ने वाहनों को जरूर पकड़ा है मौके पर वाहन चैकिंग के दौरान वह वाहन कैसा है इसकी मिलान नही किया जा रहा हां अलबत्ता जुर्माने की रसीद काटकर वाहन चेकिग का कोरम हो रहा है जबकि वर्षो से परंपरा रही है कि कागजात व वाहन की पड़ताल के बाद ही सबकुछ ठीक रहता था पर इधर कागज नही जुर्माना कटा लो ने अवैध तरीके से चल रहे वाहनों व उच्चका परस्त लोगो का कार्य आसान करता दिख रहा है पर सूत्र बता रहे है कि वाहनों की चैकिंग अगर ग्रामीण अंचल के थाना क्षेत्रो मे ढंग की हो जाय तो कई दो पहिया वाहनों के चोरीयो के खुलासे हो जाय पर शायद इस तरफ ध्यान नही है है तो सिर्फ जुर्माने की रसीद काटने मे ही चेकिंग का तरीका पुलिस ने ढूंढ निकाला है।

रिपोर्ट – संजय पांडे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here