एक दशक से कुंडली मार बैठे भ्रष्ट परिवहन कर्मियों का हुआ स्थांतरण परिवहन विभाग में मचा हड़कम्प

0
111


सोनभद्र (ब्यूरो) तकरीबन एक दशक से अधिक समय से एक ही जनपद में जमकर अवैध वसूली, भष्टाचार व ट्रक आपरेटरों का शोषण उत्पीड़न में लिप्तता के आरोप में सुर्खियों में रहे एआरटीओ सिपाही पंकज सिंह, अनिल सिंह, दिलिप सिंह व बी. एन. सिंह, समेत चारों कान्सटेबलो का ताबादला गैर जनपद हो जाने से परिवहन विभाग में मचा हड़कम्प है । बावजूद इसके परिवहन विभाग के सूत्रों ने रूटीन ताबादला करार दिया है ।

बतातें चलें कि 24 जून को मारकुन्डी आगमन पर आए कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को अवैध वसूली, भष्टाचार, ट्रक आपरेटरो से मारपीट उत्पीड़न से क्षुब्ध होकर ट्रक मालिक व्यापारीयो ने चारों सिपाहीयो के विरुद्ध ज्ञापन सौंप कर सख्त कार्रवाई की माँग किया था । जिस पर कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने आश्वासन दिया था कि लखनऊ पहुँच कर परिवहन मंत्री व प्रमुख सचिव(परिवहन) वार्ता कर कार्रवाई सुनिश्चित करायी जाएगी ताबादला कार्रवाई की जानकारी मिलते ही सभी पीड़ित ट्रक मालिको ने मंत्री के प्रति आभार जताया है। साथ ही भष्टाचार अनैतिक कार्यो की जांच की भी माँग किया है ।

इस पर लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ताबादले से भष्टाचार अवैध वसूली ट्रक आपरेटरो का उत्पीड़न से लगाम जरूर लगेगी । क्योंकि एआरटीओ विभाग इन्हें के बल पर चलता था जिसमें हर माह अवैध इंट्री से करोड़ों की वसूली होती थी जिस पर अधिकारी से लेकर सिपाही बन्दरबाट करते थे । अब समय आ गया है कि इन लोगों द्वारा भष्टाचार से कमाई गयी धन की जांच हो ताकि सबका साथ सबका विकास का सरकार का नारा साकार हो सके और दोषियों पर भ्र्ष्टाचार उन्मूलन की कार्रवाई कर उन्हें दण्डित किया जाना सुनिश्चित हो सके ।

रिपोर्ट – ज़मीर अंसारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here