बीएलओ जैसे गैर शैक्षणिक कार्य में ड्यूटी लगाए जाने के विरोध में एसडीएम को सौंपा ज्ञाप

0
40


जालौन (ब्यूरो) बीएलओ जैसे गैर शैक्षणिक कार्य में ड्यूटी लगाए जाने के विरोध में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में जालौन व कुठौंद ब्लाॅक के परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर उन्हें बीएलओ की ड्यूटी से मुक्त किए जाने की मांग की।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेशीय आवाहन पर शिक्षक संघ के जालौन ब्लाॅक अध्सक्ष नित्यानंद प्रजापति व कुठौंद ब्लाॅक के मंत्री धर्मेंद्र सिंह चैहान के नेतृत्व में परिषदीय विद्यालयों के शिक्षक, शिक्षिकाओं ने एसडीएम सौजन्य कुमार विकास को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार नियमावली 2011 एवं प्रदेश के मुख्य सचिव के सितंबर 2012 एवं जून 2017 के आदेश के क्रम में प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के अध्यापक, अध्यापकों को गैर शैक्षणिक कार्यों में ड्यूटी न लगाए जाने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके बावजूद परिषदीय विद्यालयों के शिक्षक, शिक्षिकाओं की ड्यूटी संक्षिप्त मतदाता पुनरीक्षण के कार्य में बीएलओ के रूप में लगाई गई है। जो कि उक्त आदेशों का उल्लघंन है। शिक्षक, शिक्षकाओं ने बीएलओ में लगाई गई ड्यूटी का विरोध करते हुए उन्हें बीएलओ के कार्य से मुक्त किए जाने की मांग एसडीएम से की है। इसके साथ ही उन्हें शिक्षक, शिक्षिकाओं से भी बीएलओ का कार्य न कर विरोध करने की अपील की है। इस मौके पर रामकिंकर गुर्जर, आदेश कुमार गोस्वामी, सुनील निरंजन, जयप्रकाश नरवरिया, शैलेंद्र कुमार, अरूणकांत द्विवेदी, अरूण मिश्रा, अशर्फीलाल, पवन प्रजापति, राजकुमार यादव, राकेश निरंजन, हिना नाज, ऋचा अग्निहोत्री, प्रज्ञा भारती आदि सहित लगभग आधा सैंकड़ा से अधिक शिक्षक, शिक्षिकाऐं उपस्थित रहीं।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY