मनुष्य का जीवन श्वास पर ही है आधारित

0
77

रायबरेली(ब्यूरो)- 13, 14 व 15 जून को राजकीय इंटर कालेज में उ0प्र0 भारत भारत स्काउट गाइड संस्था द्वारा आयोजित योग अभ्यास शिविर में पतंजलि योगपीठ, भारत स्वाभिमान ट्रस्ट व आरोग्य भारती के मुख्य प्रशिक्षक प्रकाश नारायण पाठक, रीना सिंह सहयोगी रामावती गुप्ता विवेक सिंह, विवेक कुमार व राघवेन्द्र यादव के दिशा निर्देशन में सेतु बन्ध आसन, उत्तानपाद आसन, अर्धहलासन, पवन मुक्त आसन, शव आसन, खड़े होकर किए जाने वाले आसनों में ताड़ासन, वृ़क्षासन, पाद हस्तासन, अर्धचक्रासन, त्रिकोणासन, बैठकर किए जाने वाले आसन में दंडासन, मुद्रासन, व्रजासन, अर्द्धउष्ट्रासन, शशकासन, उत्तान मंडूक आसन के बाद कपाल भाति, अनुलोम विलोम, शीतली प्राणायाम, भ्रामरी व ध्यान क्रिया सम्पन्न करायी गयी।

आरोग्य भारती के डा0 रवि ने श्वास की महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि जब हम पैदा होते हैं तो श्वास से ही जीवन आरम्भ होना है और श्वास रुकते ही जीवन का अन्त हो जाता है। इस अवसर पर शत्रुघ्न सिंह, श्रीराम यादव, जितेन्द्र सिंह मंगल चरन रावत, विवेक साहू, अखिलेश त्रिपाठी, जयश्री सिंह, आदित्य मिश्रा, साधना शर्मा, राधेश्याम सिंह, माता प्रसाद वर्मा, निरुपमा बाजपेयी, डा0 नीलिमा श्रीवास्तव, शिव शरण सिंह, रूपेश कुमार, वन्दना श्रीवास्तव, मोहित उपाध्याय, सत्य प्रकाश तिवारी आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here