बिजली के आभाव में ग्रामीण अँधेरे में रहने को मजबूर

0
88

मऊरानीपुर(झाँसी )-ग्राम पंचायत देवरीघाट के मजरा खिरक देवरी मे परिषदीय विद्यालय होने के साथ करीब 500 लोगों के परिवार निवासरत है । फिर भी अभी तक मंजरा मे विद्युतीकरण व पक्का सम्पर्क मार्ग न होने से बासिन्दो को आज भी लालटेन के सहारे जीवन यापन करना पड रहा है। एवं कच्चे रास्ते से निकलने को मजबूर हुए है। हरगोविन्द अहिरवार , भोले , पहलवान , बृन्दावन , रामसहाय , रामनरेश आदि ने बताया कि मंजरा मे अहिरवार जाति के लोग रहते है। फिर भी गाव आजादी से लेकर आज तक विकास से कोसो दूर है। शादी विवाह मे मिलने वाले विद्युत उपकरण शो पीस बने हुए है । ग्रामीणों ने मूल भूत सुविधा से मंजरा को जोडे जाने की मांग की है। इसी प्रकार भदरवारा ग्राम पंचायत प्रथक प्रथक 10 मंजरों मे बसी हुयी है। जिसमे से सिर्फ दो जगह ही विद्युतीकरण हुआ है। बाकि शकरगढ , टपरियन , ऊसर , धायुपरा खिरक , पडुआ, डढवा, पहाडंगज ,आदि 8 मंजरे मे विद्युत के पोल न पहुच पाने से ग्रामीण बल्लियो के सहारे जुगाड बनाकर मंजरे केा रोशन करने का प्रयास कर रहे है।
रिपोर्ट – रवि परिहार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY