यूपी की तरह उत्तराखंड में भी मीट बिक्री पर प्रतिबन्ध, दुकानें होंगी सीज़

1
133

देहरादून: उत्तर प्रदेश की तर्ज पर उत्तराखंड में भी मांस की बिक्री के खिलाफ माहौल बनने लगा है। लगातार मिल रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुए शहरी विकास मंत्री ने खुले में मांस की बिक्री पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है। इसके लिए व्यापक अभियान चलाने के भी निर्देश दिये गये हैं।

रविवार को खुले में मांस बिक्री को प्रतिबन्धित करने के उद्देश्य से बीजापुर गेस्ट हाउस में नगर विकास मंत्री शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने आवश्यक निर्देश जारी किये। व्यापार मण्डल एवं आम जनता की शिकायत पर बुलाई गई बैठक में निर्देश दिये कि शहर में जिनके पास मांस बिक्री के लाईसेंस है, उनके लिये खुले में मांस बिक्री प्रतिबन्धित होगी। उन्होंने कहा कि इसके लिये व्यापक अभियान चलाया जायेगा। इससे सम्बंधित जिम्मेदार अधिकारियों के लापरवाही को गम्भीरता से लिया जायेगा। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जो व्यापारी मांस बिक्री की शर्तें पूरी करते हैं, उनके लिये निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए जल्द लाईसेंस जारी किया जायेगा। इस सन्दर्भ में उन्होंने अवैध मांस बिक्री को प्रतिबन्धित करने के लिये निर्देश दिये हैं।

नगर निगम को निर्देश देते हुए कैबिनेट मंत्री कौशिक ने कहा कि खुले में मांस बिक्री करने वाले व्यपारियों के लिये गैर विवादित भूमि का चिन्हिकरण किया जाय। इस चिन्हिकरण में प्रशासन, नगर निगम एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी संयुक्त रूप से सर्वे कर भूमि चयन करने का निर्देश दिया।

इस अवसर पर मेयर विनोद चमोली, विधायक अनिल गोयल, व्यापार मण्डल से उमेश अग्रवाल, ए.डी.एम. प्रशासन हरवीर सिंह, नगर आयुक्त रवनीत चीमा, सी.एम.ओ. टी.सी.पंत, अशोक वर्मा सहित व्यापार मण्डल के प्रतिनिधि मौजूद थे। बताते चलें कि यूपी में योगी आदित्य नाथ की सरकार ने अवैध बूचड़ खाने बंद करा दिये हैं। यूपी सरकार के इस पैसले से नेपाल के कारोबारियों को जमकर फायदा हो रहा है। वे सीमा से लगे जिलों में अवैध रूप से मांस की सप्लाई कर रहे हैं। साथ ही उत्तर प्रदेश से पशुओं को भी नेपाल ले जाया जा रहा है।

1 COMMENT

  1. किसी भी जीव की हत्या पूर्ण रूप से अनुचित है बल्कि गाय को हम माँ की तरह मानते है | उत्तराखंड सरकार के तरफ से उठाये गए यह कदम सराहनीय है

LEAVE A REPLY