कुंडा में फिर निकला अवैध शराब का जिन्न, लाखों रुपये की नकली शराब हुई बरामद, आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा, सभी गिरफ्तार

0
217


प्रतापगढ़ ब्यूरो : जिले के कुंडा तहसील में अवैध शराब का जिन्न एक बार फिर बाहर आ गया। जिले में बीते एक डेढ़ सालों में करोड़ो रूपये की शराब पुलिस ने पकड़ा लेकिन शराब माफियाओँ के ऊपर कोई अंकुश नहीं लग पा रहा है।

19- 20मार्च की रात को पुलिस ने महेशगंज इलाके के ऐमापुर बिंधन से लाखों रूपये की नकली शराब को शराब ठेकेदार के घर से बरामद किया। स्वाट टीम और स्थानीय पुलिस द्वारा की गई इस कार्यवाही में पुलिस ने स्वाट टीम प्रभारी अमित पांडेय की तहरीर पर आठ आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखकर उनको गिरफ्तार करके उनका चालान कर दिया।

महेशगंज इलाके के अंजनी के पुल के पास स्वाट टीम प्रभारी अमित पांडेय और एसओ अखिलेश कुमार तथा मनगढ़ चौकी इंचार्ज दीन दयाल सिंह 19- 20 मार्च की देर शाम अपराधियो को पकड़ने के लिए योजना बना रहें थें, तभी स्वाट टीम प्रभारी अमित पांडेय को सूचना मिली कि महेशगंज इलाके के ऐमापुर बिंधन गाँव में शराब के ठेकेदार सुरेश सिंह के घर पर भारी मात्रा में अवैध रूप से शराब डंप की जा रही है और नकली शराब का निर्माण भी किया जा रहा है। सूचना मिलते ही पूरी पुलिस टीम रात के करीब साढ़े दस बजे ठेकेदार के घर पर छापा मार दिया । जहां पुलिस को भारी मात्रा में अवैध रूप से डंप शराब,कई कंपनियों के रैपर, हजारों शीशी, शराब की तीव्रता मापने की मशीन, तीन डिब्बे में शराब बनाने का केमिकल, रंग, 121 पेटी अवैध देशी शराब मिली । साथ में मौके पर ही आठ लोग शराब को बनाते हुये पकड़े गए।भारी मात्रा में शराब पकडे जाने की सूचना पाकर एसपी रोहन पी कानय भी मौके पर जांच को पहुँचे। स्वाट प्रभारी अमित पांडेय की तहरीर पर पुलिस ने शराब ठेकेदार सुरेश सिंह और उसके पुत्र अजय सिंह निवासी ऐमापुर बिंधन, बड़ेलाल, बृजेश उर्फ़ राहुल निवासी ऐमापुर बिंधन, तथा हथिगवां थाने के सराय सैय्यद खां गाँव निवासी लवकुश कुमार, अरविन्द कुमार, अमित कुमार और संग्रामगढ़ थाने के भरत पुर निवासी ऋषि जायसवाल के खिलाफ 60/63 आबकारी अधिनियम, 419, 420, 467, 468, 471, 272 आईपीसी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस का कहना है कि इन लोगो के खिलाफ जल्द ही गैंगेस्टर की कार्यवाही की जायेगी और ठेकेदार सुरेश सिंह जिसके पास महेशगंज बाजार में शराब का ठेका है। उसके ठेके को निरस्त करने के लिए डीएम को संतुति की जायेगी।

ऋषि है शातिर खिलाड़ी
स्वाट टीम प्रभारी अमित पांडेय ने बताया कि इस गिरोह का ऋषि जायसवाल शातिर खिलाड़ी है। वही इन लोगो को नकली शराब बनाने के सारे सामान और उपकरण उपलब्ध कराता था। और सुरेश सिंह का लड़का अजय सिंह इस शराब की आपूर्ति करता था। इस पूरे काले धंधे की जानकारी सुरेश सिंह को थी और शराब ठेकेदार सुरेश का संरक्षण इन लोगो को मिला था। अमित पांडेय ने बताया कि ऋषि जायसवाल सांगीपुर इलाके में भी अवैध शराब के साथ पकड़ा गया था और इसी मामले में वह जेल की हवा भी खा चुका है।

रिपोर्ट : विश्व दीपक त्रिपाठी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY