लोगों की समस्या सुनने के लिए सीधे ग्रामीणों से मिलने पहुंचे कलेक्टर

0
163

राजनांदगांव – कलेक्टर श्री मुकेश बंसल और पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल आज छुईखदान विकासखंड के दुर्गम नक्सल हिंसा प्रभावित गातापार जंगल-बकरकट्टा -साल्हेवारा क्षेत्र में पहुंचे। उन्होनें मलैदा, भावे, लछणाझिरिया, कौआबहरा, बकरकट्टा, समुंदपानी, सिरोधी सहित साल्हेवारा क्षेत्र के ग्रामीणों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं तथा मांगे जानी।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने क्षेत्र की निर्माणाधीन सड़कों, पुलियों, स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, स्वास्थ्य केन्द्रों, पंचायत भवनों तथा राशन दुकानों का भी निरीक्षण किया। जिले के दोनों अधिकारियों ने स्कूलों में बच्चों की कम उपस्थिति एवं शिक्षकों की अनुपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त की तथा उपस्थित अनुविभागीय राजस्व अधिकारी श्री पीएस धु्रव को इस संबंध में जरूरी निर्देश दिये।

मलैदा प्राथमिक शाला के शिक्षक श्री संतोष ठाकुर को कारण बताओ नोटिस –
कलेक्टर श्री मुकेश बंसल और पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल ने अपने प्रवास के दौरान सबसे पहले गातापार जंगल क्षेत्र के मलैदा पहुंचे। उन्होनें मलैदा में संचालित शासकीय प्राथमिक शाला का निरीक्षण किया। शाला के बच्चों से पहाड़े पूछे और हिन्दी की पुस्तक के पाठ पढ़ाये। कलेक्टर श्री बंसल ने शाला में पदस्थ शिक्षक पंचायत श्री संतोष ठाकुर की अनुपस्थिति पर उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश अनुविभागीय राजस्व अधिकारी श्री धु्रव को दिये।

ग्रामीणों ने बताई बिजली की समस्या, सड़क जल्दी बनाने की हुई मांग
कलेक्टर श्री मुकेश बंसल और पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल से मलैदा के ग्रामीणों ने अपनी समस्याएं और मांगे खुल कर बताई। ग्रामीण श्री पंचू राम ने बताया कि गांव में बिजली की समस्या है, खंबे लग गये हैं पर बिजली नहीं आई है। इस पर कलेक्टर श्री बंसल ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को विद्युत विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर जल्द से जल्द समस्या का निराकरण करने के निर्देश दिये। ग्रामीण श्री राजकुमार ने महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी के तहत गांव में अधिक से अधिक काम शुरू करने की मांग की। श्री राजकुमार ने बताया कि गांव का एक हैण्डपंप खराब हो गया है। जिसपर अधिकारियों ने उसे मरम्मत कर सुधरवाने के निर्देश दिये।

मलैदा, भावे सहित क्षेत्र के अधिकांश ग्रामीणों ने गातापा –
मलैदा, भावे सहित क्षेत्र के अधिकांश ग्रामीणों ने गातापार जंगल-बकरकट्टा तक बन रही विभिन्न सड़कों का काम तेजी से पूरा कराने की मांग आज पहुंचे कलेक्टर श्री मुकेश बंसल और पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल से की। ग्रामीणों ने दोनों अधिकारियों से कहा कि सड़क का काम बहुत धीरे चल रहा है। लोगों को आने-जाने में बहुत परेशानी हो रही है, किसी के बीमार होने पर अस्पताल तक पहुंचने में भी बहुत देर हो जाती है। इस पर दोनों अधिकारियों ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के कार्यपालन अभियंता श्री पटेल से मौके पर ही चर्चा की। उन्होनें गातापार से बकरकट्टा सड़क निर्माण के कार्य को तेजी से पूरा कराने के लिए सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

कलेक्टर श्री बंसल ने इस दौरान ग्रामीणों को बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मंशा के अनुसार गातापार जंगल और बकरकट्टा क्षेत्र के विकास के लिए तेजी से सड़कों का निर्माण कराया जायेगा। दोनों अधिकारियों ने विकास कार्यों को समय पर पूरा करने के लिए ग्रामीणों से भी सहयोग की मांग की। ग्रामीणों ने भी क्षेत्र के विकास के लिए हो रहे निर्माण कार्यों में पूरा सहयोग देना का आश्वासन दोनों अधिकारियों को दिया। कलेक्टर ने इस दौरान ग्रामीणों से राशन दुकानों से चावल, मिट्टी तेल और शक्कर मिलने के बारे में भी पूछताछ की। मलैदा के ग्रामीणों ने शक्कर और मिट्टी तेल नहीं मिलने की जानकारी दी। जिस पर कलेक्टर ने उचित कार्रवाई करने के निर्देश अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को दिये।

भावे में बन रहा नया ग्राम पंचायत भवन, भावे और कौआबहरा में दूर होगी पानी की समस्या –
धूर नक्सल प्रभावित गांव भावे में पहुंचकर कलेक्टर श्री बंसल और पुलिस कप्तान श्री प्रशांत अग्रवाल ने विकास कार्यों का जायजा लिया। उन्होनें गांव में बन रहे नये पंचायत भवन की गुणवत्ता को भी देखा तथा निर्माण काम में लगे श्रमिकों से भी बात की। कलेक्टर ने सभी श्रमिकों से उनकी दैनिक मजदूरी के बारे में पूछा और उनकी समस्याएं जानी। ग्रामीणों ने बताया कि भावे और कौआबहरा में पीने के पानी की समस्या है। जिस पर कलेक्टर ने दोनों स्थानों पर सर्वे कराकर तत्काल हैण्डपंप खनन के लिए अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करने को कहा। ग्रामीणों ने अधिकारियों को बताया कि गांव में रोजगार गारंटी के तहत कार्य चल रहे है। कलेक्टर श्री बंसल ने भावे आंगनबाड़ी केन्द्र में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका की अनुपस्थिति और आंगनबाड़ी केन्द्र बंद पाये जाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की।

कलेक्टर ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका सहित क्षेत्र की सेक्टर सुपरवाईजर को भी कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। उन्होनें भावे ग्राम पंचायत के मार्ग पर दोनों तरफ बड़ी मात्रा में पड़ी गिट्टी के बारे में भी पंचायत पदाधिकारियों से पूछा और उसके बारे में पूरी जानकारी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से लेकर प्रस्तुत करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

रिपोर्ट-हरदीप छाबड़ा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY