दो दिन से लापता बच्चे का शव मिलने से क्षेत्र में फैली सनसनी

0
167


दुमका ब्यूरो : जरमुंडी थाना क्षेत्र के पेटसार गांव से बीते बुधवार की शाम से लापता नाबालिक बच्चे का शव शुक्रवार को गांव के बगल में ही झाड़ी मे मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। इस बाबत मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि पेटसार गांव के साजन कुमार उम्र 7 वर्ष पिता संतोष मिस्त्री की बेरहमी से हत्या कर दी गई है।

परिजनों के अनुसार बुधवार की शाम मृतक साजन कुमार अपने भाइयों और दोस्तों के साथ खेल रहे थे शाम को घर नहीं आने के कारण परिजनों ने खोजबीन शुरू कर दी। काफी खोजबीन के बाद जब वह नहीं मिला तो परिजनों को अनहोनी की आशंका हुई और घरवालों ने जरमुंडी थाना में बच्चे की गुमशुदगी की सूचना दिया। लापता होने के दो दिन बाद शुक्रवार की सुबह करीब 9 बजे गांव के समीप कुजबोना बिशुनपुर के बीच झाड़ी में मृतक बच्चे का शव देखा गया। मृत्यु की खबर पाकर परिजन घटनास्थल पर पहुंचे और जरमुंडी थाना पुलिस को इसकी जानकारी दी।

सूचना मिलते ही जरमुंडी थाना प्रभारी मनोज ठाकुर घटना स्थल पर पहुंच कर लाश को अपने कब्जे में लेकर अनुसंधान का कार्य आरंभ कर दिया। थाना प्रभारी के अनुसार बच्चे को काफी दरिंदगी से पत्थर से कुचलकर मारा गया है। परिजन हत्या का शक अपने पड़ोसी जीवन मिस्त्री उर्फ जिन्नी पिता स्वर्गीय रामेश्वर मिस्त्री एवं पत्नी लाखों देवी पर कर रहे हैं। जरमुंडी थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करते हुए जीवन मिस्त्री की पत्नी लाखों देवी को थाने ले आई है वही अभियुक्त जीवन मिस्त्री फरार है। बताया जाता है कि करीब 12 वर्ष पूर्व इसी गांव से 5 वर्षीय एक बच्चा गायब हुआ था और उस समय जीवन मिस्त्री उर्फ जिन्नी ने लापता बच्चे के परिजनों से बच्चे को लाने के एवज में दस हजार रुपए मांगा था। लेकिन गरीबी के चलते लापता बच्चे के परिजन रुपया नहीं दे पाए जिस कारण वह बच्चा आज तक नहीं मिल पाया।

नवरात्रि के उपवास में रहने के बावजूद भी थाना प्रभारी मनोज कुमार ठाकुर जरमुंडी अंचलाधिकारी प्रमेश कुशवाहा के इंतजार में करीब 3 घंटे तक घटनास्थल पर डटे रहे दो बार इधर से अंचलाधिकारी को कॉल भी किया गया उन्होंने यही कहा भेज रहे हैं CI को कर्मचारी को लेकिन गर्मी और धूप या अन्य कारणों से जरमुणडी अंचलाधिकारी CI या कर्मचारी नहीं पहुंचे और काफी इंतजार करने के बाद थाना प्रभारी मनोज ठाकुर ने पीड़ित परिजनों को अपने हाथों से दस हजार रुपये सहायता राशि के रूप में मृतक बच्चे के दादा जी को उपलब्ध कराया।

रिपोर्ट – धनञ्जय सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here