घर वालों ने शादी नहीं की तो आशिक ने किया ऐसा काम

0
273

mainpuri
मैनपुरी : जनपद मैनपुरी में लड़की की शादी नहीं की तो सिरफिरे आशिक द्वारा लड़की को जबरदस्ती घर से उठा ले जाने का मामला सामने आया है। पीड़ित परिवार ने आरोपी लड़के व् उसके सहयोगियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया है। लेकिन ढाई महीना बीत जाने के बाद भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। आज तक पुलिस ने इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं की है। वंही अभी भी आरोपी पीड़ित परिवार को जान से मार देने की धमकी भी दे रहे है। अब ऐसे में पीड़ित परिवार हालात बेहद नाजुक है | वो अब न्याय के लिए जाये तो जाये कहाँ ? अपनी बेटी की सलामती और बरामदगी आखिर गुहार लगाएं तो लगाएं कहाँ ?

ये है मामला 

घटना थाना कुर्रा इलाके के नगला बरी की है यंहा के रहने वाले घनश्याम यादव (बदला हुआ नाम) की 16 बर्षीय पुत्री रेखा (बदला हुआ नाम) को 5 नबम्बर को फतेहगण के रहने वाले रोहित कुमार उर्फ मन्नू सिंह, छोटे सिंह लाखन सिंह समेत तीन अन्य लोग उसके ही गांव से उस समय उस समय जबरदस्ती उठा ले गए जब रेखा घर के बाहर कूड़ा डालने आई थी रेखा के घर पर उस समय कोई नहीं था रेखा की माँ आने मायके भाई दौज करने गई थी आरोपियों ने रेखा को अकेला देखा और घटना को अंजाम देकर फरार हो गए।

घटना के बाद ये किया

जैसे ही घटना की जानकारी परिजनों को हुई तो तत्काल रेखा की तलाश की गई लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ हताश परिजनों ने थाना कुर्रा में फतेहगण निवासी रोहित कुमार उर्फ मन्नू सिंह, छोटे सिंह लाखन सिंह समेत तीन अन्य लोग के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया है लेकिन मामला दर्द होने के बाबजूद भी ढाई महीने से भी ज्यादा समय हो गया लेकिन अभी तक पुलिस ने घटना में कोई कार्यवाही नहीं की है पीड़ित परिवार अब बेहद दुखी और परेशान है रेखा की माँ का रो रो कर बुरा हाल है पुरे घर में मातम जैसा माहौल है।

ये बताया भाई ने

अपह्रत के भाई ने बताया कि घटना के कुछ दिन पूर्व उसे फोन पर धमकी भी दी गई थी कहा गया था कि अपनी बहन की शादी हमसे करा दे बरना हम तेरी बहन को घर से उठा ले जायेंगे और पूरे परिवार को जान से मार देंगे उसने ये भी बताया कि ढाई महीने से भी ज्यादा का समय हो गया अभी तक उसकी बहन का कोई सुराग नहीं लगा है पुलिस भी कोई सुनवाई नहीं कर रही जब भी पुलिस के पास जाते है पुलिस उल्टा भगा और देती है अब ऐसे में हमे न्याय और हमारी बहन हमे कैसे मिलेगी ?

पुलिस ने नहीं की कार्यवाही

पुलिस और अधिकारियों से जब बात की गई तो उनका कहना था कि मामला ढाई महीने पुराना हो गया इसलिये हम इस मामले में अब कुछ नहीं कर सकते है एएसपी शिष्यपाल सिंह ने बताया कि अभी हमारी पुलिस बहुत व्यस्त है अभी चुनाव का टाइम है इसलिए ऐसे मामले अभी पेंडिंग ही रहेंगे अब कोई एएसपी साहब को ये बताये कि अगर पुलिस जनता के बारे में नही सोचेगी तो कौन सोचेगा ?

रिपोर्ट – प्रमोद कुमार सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here