घटिया निर्माण कार्य का खामियाजा, बाढ़ की मार से जनजीवन बेहाल |

0
359
MP-Flood
image Courtesy – SKY ME

लगातार सूखे की मार झेल रहे मध्य प्रदेश में जब पानी बरसा तो कहर बनकर बरसा, मध्य प्रदेश के रीवा और सतना जिलों में लगातार हो रही बारिश से कुछ क्षेत्रों में बाढ़ आ गयी है, दोनों ही जिलों में बचाव कार्य किया जा रहा है, बचाव कार्य हेतु हेलीकाप्टर और मोटरबोट तैनात किये गए हैं |

रीवा के जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ के हालात को देखते हुए जिले के स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया गया है, उन्होंने बताया कि तमस नदी के पुरवा जल प्रपात में बह जाने से गायब हुए 5 युवकों का पिछले 3 दिन में कोई पता नहीं चला है, जबकि नदी में बाढ़ आने के बाद पेड़ पर फंसे तीन अन्य लोगों को सहायता हेलीकॉप्टरों की मदद से बचा लिया गया है |

सतना जिले के कलेक्टर नरेश पाल ने बताया, पानी से उफनती बरसाती नदी के कारण टापू बन चुके 1,500 की आबादी वाले सरियाटोला गांव में मोटर बोट से खाद्ध सामग्री और दवाइयां पहुंचाई गई हैं। लगभग 1200 बाढ़ प्रभावितों को पांच राहत शिविरों में रखा गया है। मौसम विभाग के मुताबिक सतना में पिछले 24 घंटे में 244 मिलीमीटर से अधिक वर्षा दर्ज की गई है।

बाढ़ से बचाव के लिए बनाये गए नवनिर्मित बांध घटिया निर्माण कार्य के चलते बारिश का पहला चरण भी नहीं झेल पाए और बारिश की पहली मार में ही बह गए |

इसे भी पढ़ें – व्यापम में एक और गड़बड़ी का खुलासा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY