लखनऊ- निज़ाम बदलने के बाद भी सूबे में नहीं थम रहा अपराध, 3 ने किया चलती कार में नाबालिग से रेप

0
64
प्रतीकात्मक फ़ोटो

लखनऊ (ब्यूरो)- सूबे का निज़ाम बदलने के बाद हर किसी को इस बात का विश्वास था कि अब शायद प्रदेश में अपराधों में कमी आये लेकिन ऐसा नहीं हुआ है | सूबे का नेत्र्तत्व तो बदल गया लेकिन अपराधों के ग्राफ में कोई कमी नहीं दिखाई दे रही है | खासकर जिस महिला सुरक्षा के मुद्दे को आधार बनाकर भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता में वापसी की थी आज वही महिलाएं सूबे असुरक्षा के माहौल में जीने में मजबूर है |

दरअसल आपको बता दें कि लखनऊ से एक दिल को दहला देने वाला मामला सामने आया है | सूबे की राजधानी में कक्षा 8 में पढने वाली एक नाबालिग लड़की के साथ कुछ मनचलों ने चलती कार में और उसके बाद कही ले जाकर रात भर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है और उसके बाद सुबह होते ही वह उसे उसके घर के सामने फेंक कर फरार हो गए |

जिन तीन लोगों ने नाबालिग के साथ इस शर्मनाक हरकत को अंजाम दिया है उनमें से एक यूपी पुलिस के सब इन्स्पेक्टर का बेटा भी शामिल है | प्राप्त जानकारी के आधार पर बताया जा रहा है कि तीनों ही आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है | जिन तीन आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया है उनमें से एक को पीडिता पहले से जानती थी |

पुलिस के अनुसार ने पीडिता ने बताया है कि वह बीती रात अपने घर थी जभी उसका एक दोस्त उसके घर के सामने आया और साथ चलने के लिए कहा | पीडिता ने बताया कि जब वह घर के बाहर गयी तो अजीत जोकि उसका दोस्त था उसके घर के बाहर कार लिए उसका इंतजार कर रहा था | उसने बताया कि उसकी कार में उसके दो दोस्त और भी बैठे हुए थे हालाँकि वह उन्हें भी जानती थी | इन तीनों ने लड़की को कार में बिठा लिया और उसके बाद उसे खाने के लिए कुछ दिया | जिसके बाद लड़की बेहोश हो गयी और उसके बाद इन तीनों ही दरिंदों ने मिलकर लड़की के साथ बेहोशी की हालत में सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया | बाद में सुबह वह उसे उसके घर के सामने फेंक कर फरार हो गए |

परिजनों की तहरीर पर दर्ज हुआ मुकदमा-
लड़की की इस हालत को देखकर परिजन हतप्रभ रहे गए और उन्हें जैसे ही घटना की जानकारी लड़की के द्वारा हुई उन्होंने तत्काल इस बात की सूचना पुलिस को दी | उसके बाद परिजनों की तहरीर पर गाज़ीपुर थाने में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने चिनहट के रहने वाले अजीत पाण्डेय, शशांक और गोमती नगर में रहने वाले मुकेश सोनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है |

सब इन्स्पेक्टर का बेटा है अजीत पाण्डेय-
पुलिस सूत्रों के माध्यम से प्राप्त खबर के आधार पर बताया जा रहा है कि अजीत पाण्डेय उन्नाव में तैनात एक सब इन्स्पेक्टर का बेटा है और वह लखनऊ के ही एक डिपार्टमेंटल स्टोर में काम करता है | जबकि वही दूसरा आरोपी शशांक एमबीए का स्टूडेंट है | लड्की ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि अजीत ने ही उसकी दोस्ती अपने दोस्त मुकेश से करवाई थी और उसने लड़की को एक मोबाइल फ़ोन भी गिफ्ट दिया था | जिसके बाद से दोनों के बीच चैटिंग हो रही थी | फिलहाल पुलिस लड़की के मोबाइल फ़ोन के माध्यम से सारी डिटेल्स और इस मिस्ट्री को सुलझाने में जुट गयी है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY