बिजली विभाग में संविदा पर तैनात लाईनमैन की मौत

जालौन(ब्यूरो)- सोमवार की रात बिजली विभाग में संविदा पर तैनात लाईनमैन सुरेश कुमार की मौत के मामले में जब सुरेश के शव का पोस्टमॉर्टम होकर आया। तो उनके परिजनों व गांववालों ने बिजली विभाग के कार्यालय के सामने उरई जालौन मार्ग पर उसके शव को रखकर जाम लगा दिया। देखते ही देखते सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई।

लाइनमैन सुरेश कुमार की मौत के बाद आर्थिक मदद की चैक दिलाए जाने मांग को लेकर परिवार के लोगों द्वारा ग्रामीणों के सहयोग से उरई जालौन मार्ग पर बिजली घर के सामने जाम लगा देने सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी संजय कुमार गुप्ता, चौकी प्रभारी शीतला प्रसाद मिश्र पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए तथा परिजनों से बात की तो मृतक के परिजन लाईनमैनों को सुरक्षा उपकरण दिलाए जाने एवं मुआवजे की मांग पर अड़े थे।

जिस पर कोतवाल ने मृतक के परिजनों में पत्नी वंदना, मृतक के भाई जियालाल, लल्लूराम व हिम्मतराम को मुआवजे की 5 लाख रुपये की चेक दिलाए जाने का आश्वासन दिया। काफी प्रयासों के बाद तकरीबन एक घंटे की माशक्कत के बाद कोतवाल के आश्वासन के बाद परिजनों ने मृतक के शव को सड़क से हटाया। इसके बाद कोतवाल ने एसडीओ से परिजनों को चेक दिए जाने के लिए कहा।

परंतु यहां मामला इस बात पर पेंच फंस गया कि मृतक सुरेश की दो पत्नियां थीं। जिनमें से एक पत्नी का पहले ही देहांत हो चुका है। जिसके एक बेटा पवन (18) व एक बेटी आरती (16) है। जबकि दूसरी पत्नी वंदना है। जिसके दो बेटी काजल (9), गुड़िया (4) व एक बेटा छोटू (2) है। कहीं आगे चलकर कोई क्लेम न कर दे तो चेक किसको दी जाए। मामले की सूचना एसडीएम भैरपाल सिंह व सीओ संजय कुमार शर्मा को दी गई। मौके पर पहुंचे एसडीएम व सीओ ने मृतक के पांचों के बच्चों के नाम संयुक्त रूप से चेक दिए जाने के बाद मामला शांत हुआ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here