मध्य प्रदेश के व्यापम से जुड़े कई जज दोषी, चार हुए बर्खास्त अन्य पर जल्द गिरेगी गाज |

0
367

vyapam mp

मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले के आरोपियों को अग्रिम जमानत देने वाले चार जजों को बर्खास्त कर दिया गया है, जबकि एक जज को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है। हाईकोर्ट की अनुशंसा के बाद राज्य सरकार ने जजों की बर्खास्तगी की अधिसूचना जारी कर दी है। इस मामले में कई जज दोषी पाए गए हैं। जल्द ही शेष जजों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

जानकारी के अनुसार विभागीय जांच के बाद हाईकोर्ट ने 8 अक्टूबर को जबलपुर में फुल कोर्ट मीटिंग बुलाई थी। इसमें प्रदेश भर से करीब डेढ़ दर्जन जजों को बर्खास्त करने का फैसला लिया गया।

इस मामले में विधि विभाग ने पांच जजों की पहली सूची जारी कर दी है। विभागीय सूत्र बताते हैं कि जल्द ही शेष जजों के संबंध में आदेश जारी होंगे। हाईकोर्ट से जुड़ा मामला होने के कारण कोई भी अधिकारी इस संबंध में चर्चा करने के लिए तैयार नहीं है। जिन अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीशों की सेवाएं समाप्त की गईं, उनमें अलीराजपुर जिले के जोबट में पदस्थ रूप सिंह, होशंगाबाद जिले के सोहागपुर में पदस्थ मोहम्मद हुसैन अंसारी, बालाघाट में पदस्थ जगत मोहन चतुर्वेदी के नाम हैं। वहीं शहडोल जिले के ब्यौहारी में पदस्थ चंद्रप्रकाश वर्मा को सेवा से हटाया गया और जबलपुर जिला सत्र न्यायालय के एडीजे सुरेश कुमार आरसे को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है।

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here