माघी पूर्णिमा से हो कांवर मेले की शुरुआत

0
162

kanvar

चकलवंशी/उन्नाव (ब्यूरो)- माघी पूर्णिमा से प्रसिद्ध कावर मेले की शुरुआत हो गई शिव जी पर जल चढ़ाने के लिए कांवरिया महदेवा लोधेस्वर बाराबंकी के लिए रंग बिरंगी सजी कावर लेकर रवाना हो गए।

पन्द्रह दिनों तक चलने वाले कावर मेले में जाने के लिए शिव भक्त महीनों पहले से तैयारी करते हैं अपने गांव के किसी शिव मन्दिर में जाकर पूजा अर्चना करते हैं कि भोले बाबा आपके दरबार में आना है शक्ति दे सैकड़ों के जत्थे मे गांव से चलकर परियर बिठूर घाट आकर पतित पावनी गंगा में स्नान करने के पश्चात घाट के पनडो के दिशा निर्देशों के अनुसार पैदल कावर लेकर महादेवा बाराबंकी के लिए प्रस्थान करते हैं पन्द्रह दिनों तक चलने वाले इस मेले में उरई, जालौन, कन्नौज, कानपुर देहात व नगर सहित उन्नाव जनपद के भी हजारों शिव भक्त जिन रात पैदल चलते हुए महदेवा पहुचते हैं मान्यता है कि जो भी सच्चे मन से मनौती मानता है उसके पूरण हो जाने पर कावर ले कर उसमें रखा गंगा जल शिवलिंग पर चढाते हैं इस एतिहासिक मेले में कई जनपदो के शिव भक्त निकलते हैं |
रिपोर्ट- अशोक दुबे
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY