मांगों को लेकर गृहरक्षकों ने वर्दी में किया भिक्षाटन

0
127


मधुबनी, बिहार(ब्यूरो)- अपनी मांगों को लेकर बिहार रक्षा वाहिनी स्वयं सेवक संघ के बैनर तले गृह रक्षकों ने विरोध प्रदर्शन 62 वें दिन जारी रखा| गृहरक्षक अपनी मांगों को अनसुना होते देख विभिन्न चौक—चैराहे पर भिक्षाटन कर विरोध प्रदर्शन किया|

वह भी अपनी फुल वर्दी में, गृहरक्षकों ने इस दौरान लोगों को सरकार की श्रमिक विरोधी नीति के बारे में जानकारी दी| इन्होंने कहा कि सरकार की नीति के कारण इनके परिजनों के सामने दो जून की रोटी की समस्या हमेशा बनी रहती है| इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि सरकार और इनके पूंजीव्यवस्था के खिलाफ लोगों को जागरूक किया जाय |

सरकार की श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ लोगों के बीच जागरूकता का कार्यक्रम चलाया जाए| इनके नायाब प्रदर्शन को लेकर लोगों में काफी उत्सुकता रही| लोगों ने इन गृहरक्षकों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि सरकार को ऐसे मामलों को लेकर ठोस नीति बनानी चाहिए|

मालूम हो कि होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय के सामने अपने विरोध के समर्थन में धरना पर लगातार बैठे हुए हैं| विरोध को धारदार बनाने के लिए गृहरक्षकों ने कई कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है| इसके तहत 11 मई को डीएम कार्यालय के सामने अर्द्धनग्न प्रदर्शन किया जायेगा|

इसदिन समाहरणालय में भी कामकाज ठप करने की कोशिश की जायेगी| इसी तरह 13 मई को लोटा थाली लेकर शहर में प्रदर्शन किया जायेगा| गृहरक्षक इस दिन अपनी बेवशी को दर्शाने वाला प्रदर्शन करेंगे| मांगें अनसुनी होने पर 15 को राजधानी में पूरे बिहार से गृहरक्षक जुटेंगे| गृहरक्षकों ने बताया कि सुरक्षा के प्रथम कार्रवाई के लिए इन्हें लगाया जाता है|

जब भी जरूरत होती है गृहरक्षकों का प्रयोग किया जाता है| आमजन की सुरक्षा का मामला हो या फिर समाज में शांति व सद्भाव कायम रखने का मामला गृहरक्षक बनाये रखा है| अन्य सुरक्षा बल के समान काम लिया जाता है| लेकिन इन्हे समान काम के बदले समान वेतन और सुविधा तो दूर मामूली सुविधा भी नही दिया जाता है ।

रिपोर्ट-आशुतोष कुमार सिंह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here