मासूम छात्र की खौफनाक हत्या के आरोपी भेजे गए जेल

लालगंज/प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- उदयपुर थाना क्षेत्र के ढकवा दर्रा गांव में बीती 22 जुलाई को दुस्साहसिक ढंग से मासूम छात्र की जघन्य हत्या कर दी गई। घटना में नामजद चारों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सोमवार को उन्हें जेल भेज दिया है।

थाना क्षेत्र के ढकवा दर्रा निवासी हरफूल सिंह का पुत्र अमित उर्फ आजाद (13) क्षेत्र के राजमतीपुर स्थित सावित्री सिंह विद्यालय में कक्षा चार का छात्र था। उसके सहपाठी व रिश्ते में चाचा किशुन उर्फ मुरारी (17) पुत्र श्यामबिहारी सिंह व संदीप सिंह (14) एक साथ कक्षा में पढ़ा करते थे। संदीप बगल के थाना सांगीपुर के रामगंज बाजार के निकट सगरा का रहने वाला है, जो ढकवा दर्रा में अपनी ननिहाल में रहकर पढ़ रहा था। बीती बाइस जुलाई शनिवार को किशुन और संदीप ने मृतक अमित से करौंदा खाने की बात कहकर उसे हरफूल सिंह के एक पुराने मकान में ले गए। करीब दो घंटे बाद किशुन और संदीप तो वापस घर आ गए किन्तु मृतक अमित अपने घर वापस लौटकर नही आया।

अमित के परिजनों ने दोनों साथियों से अमित के बारे में जानकारी ली तो वह कुछ भी बताने से मना कर गए। देर रात सूचना पर पहुंची उदयपुर पुलिस ने भी मृतक छात्र की रात भर इलाके में तलाश की किन्तु उसका कहीं कोई अता पता नही चल सका। रविवार को दोपहर मृतक अमित के दोनों साथियों किशुन और संदीप को पुलिस थाने उठा ले गयी। यहां पुलिस द्वारा कड़ी पूछताछ के दौरान किशुन व संदीप ने पहले तो मृतक के कभी सई नदी तो कई मट्टन नाले में पैर पिसलने की बहाने बाजी करते रहे।

किन्तु पुलिस ने जब दोनों को और कर्रा किया तो किशुन उर्फ मुरारी ने अमित को मारकर घर की केवड़िया में बन्द कर देने की बात उगली। इसके बाद जब पुलिस और मृतक के परिजन घटना स्थल पर पहुंचे तो केवड़िया खुलवाई और मृतक अमित का शव देखकर आवाक रह गए। मृतक अमित का शव का हाथ पैर रस्सी से बंधा हुआ और मुंह भी बंधा हुआ मिला। मृतक के मुख से खून बह रहा था। घटना की जानकारी होने पर घटना स्थल पर आसपास के ग्रामीणों की भी भारी भीड़ जमा हो गई। भीड़ में गुस्सा बढ़ता देख उदयपुर थानाध्यक्ष चन्द्रकान्त उपाध्याय ने अफसरों को सूचना दी। इस पर बगल के थाना सांगीपुर के एसओ मृत्युंजय मिश्र व लालगंज कोतवाल बालेन्द्र भी भारी पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गए।

जानकारी मिलने पर जिले के अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी बसन्तलाल व सीओ रमाकान्त यादव ने भी घटना स्थल पहुंचकर वारदात को लेकर जानकारियां हासिल की। अपर जिलाधिकारी सोमदत्त मौर्य भी थाना मुख्यालय पहुंचे और मासूम छात्र की हत्या के पहलुओं को खंगाला। इधर मृतक के बाबा शम्भू सिंह ने दी गई तहरीर में आरोपी किशुन उर्फ मुरारी तथा संदीप सिंह व किशुन की मां तारावती तथा भाभी सरिता को हत्या के आरोप में नामजद करते हुए अपने पौत्र अमित की साजिशन हत्या की बात कही।

घटना को लेकर पुलिस ने सभी नामजद आरोपियों किशुन उर्फ मुरारी तथा संदीप व आरोपी तारावती व सरिता के खिलाफ हत्या व हत्या की साजिश समेत विभिन्न सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया और दबिश देकर सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया। एसओ ने बताया कि सभी आरोपियों को सोमवार को जेल भेज दिया गया है। इधर पीएम के बाद मृतक मासूम अमित के शव का परिजनों ने अन्तिम संस्कार कर दिया है।

रिपोर्ट- चन्द्र शेखर तिवारी⁠⁠⁠⁠

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here