सेक्स नहीं करने पर कॉलेज प्रिंसिपल ने छात्राओं को किया फेल, सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत के बाद भी नहीं मिली मदद

0
650
Representative Image
Representative Image

भोपाल: मध्य प्रदेश एक प्राइवेट पैरामेडिकल कॉलेज में कॉलेज की छात्राओं ने कॉलेज प्रिंसिपल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। छात्राओं ने आरोप लगाया है कि कॉलेज प्रिंसिपल के साथ शारीरिक संबंध बनाने से इंकार करने के कारण उन सबको प्रेक्टिकल में फेल कर दिया गया है, साथ ही उन 40 छात्राओं को भी बर्खास्त कर दिया गया जो प्रिंसिपल का विरोध कर रही हैं।

एक स्थानीय समाचार वेबसाइट के अनुसार छात्राओं का कहना है कि प्रिंसिपल के हाथ में प्रेक्टिकल के 200 नंबर होते हैं, और प्रिंसिपल इन्हीं नम्बरों की धमकी देकर छात्राओं का शोषण करता है, छात्राओं ने आरोप लगया कि प्रिंसिपल ने लिखित परीक्षा में 11 नंबर लाने वाली छात्राओं को 100 से अधिक नंबर दिए है जबकि अधिक अंक लाने वाली छात्राओं को फेल कर दिया गया है क्योंकि ये छात्राएं प्रिंसिपल के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने को तैयार नहीं थी। पीड़ित छात्राओं ने राज्य महिला आयोग पहुंचकर छात्राओं ने गुरुवार को लिखित आवेदन दिया है।

छात्राओं ने बताया कि हमने सांसद आलोक संजर, और मंत्री नरोत्तम मिश्रा तक से प्रिसिंपल के खिलाफ शिकायत की , हमने सीएम हेल्प लाइन पर भी शिकायत की, लेकिन आभीतक हमारी कोई सुनवाई नहीं हुई है, छात्राओं का कहना है कि उन्हें न्याय चाहिए और प्रिसिंपल को कड़ी सजा दी जाए। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए आयोग ने प्रकरण की जांच कराने की बात कही है।

रिपोर्टर – दीक्षा रावत

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY