मध्देशिया समाज के होली मिलन में जादूगर एम.के. सरकार ने दिखाया जादू

0
120

चकिया(चन्दौली ब्यूरो)- होलियाना माहौल, उड़ते गुलालों से लाल चेहरे के साथ जादूरगर एमके सरकार की हैरतअंगेज कारनामों ने अखिल भारतीय मध्देशीय वैश्य सभा इकाई चकिया के होली मिलन समारोह की शाम को एकदम रंगीन कर दिया। स्थानीय आदित्य नारायण पुस्तकालय में आयोजित मध्देशिया समाज के होली मिलन समारोह में जब एक बाद एक जागदूर एमके सरकार ने बेहरतरीन प्रस्तुतियां दी तो लोग बरबस ही तालियां बजाने को मजबूर हो गये।

कार्यक्रम की शुरूआत मुख्यअतिथि मनोज मध्देशिया ने कुलगुरू बाबा गणिनाथ की प्रतिमा पर माल्यर्पण करने के साथ दीप प्रज्वलित करते हुए किया। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में मौजूद मध्देशिय स्वजातीय बंधुओ ने आयोजन का खूब लुफ्त उठाया। जागदूर एमके सरकार की हैरतंगेज प्रस्तुतियों से दर्शक कभी अचंभित हो जाते तो कभी हंसते-हंसते लोट-पोट।

इस दौरान मुख्य अतिथि मध्देशिया समाज के प्रदेश अध्यक्ष मनोज मध्देशिया ने कहा कि वर्तमान समय संगठित रहने का है, क्योंकि जब तक आप संगठित नही होगें तब तक आपकी ताकत को कोई पहचानेगा। जिस प्रकार एक और मिलकर ग्यारह होते है, उसी प्रकार मध्देशिया समाज का हर एक व्यक्ति संगठित होकर एक मजबूत संगठन का निर्माण करें। जिससे हमारी समाज पूरे प्रदेश में एक मजबूत संगठन के रूप में उभर कर सामने आयें। वहीं कार्यक्रम के संयोजक व व्यापार मंडल अध्यक्ष अजय मध्देशिया ने कहा कि संगठन ही हमारी शक्ति है। जब तक हम लोग संगठित रहेगें तब तक मध्देशिया
समाज की एक मजबूत नींव बनी रहेगी। कहा कि किसी परिवार का विकास उसकी पारिवारिक परिवेश के साथ उसके शैक्षणिक परिवेश से होता है। इसलिये सभी स्वजातीय बंधु अपने बच्चों को अच्छी तथा उच्च शिक्षा देने की कोशिश करें। क्योंकि बच्चे ही हमारे भविष्य है। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अवध बिहारी मध्देशिया ने कहा कि होली मिलन समारोह का मुख्य उद्देश्य सभी स्वजातीय बंधुओं को एक मंच पर लाने के साथ आपसी सौहार्द को बढ़ावा देना है।

इस दौरान बीच-बीच में अपने-अपने क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चों को मुख्य अतिथियों द्वारा शिल्ड देकर उनके उत्साह को दोगुना करने का कार्य किया गया, जिससे कि भविष्य में वें इससे भी बेहतर हासिल कर सकें। कार्यक्रम के अंत में आयोजक मंडल द्वारा सभी अतिथियों के साथ जादूगर एमके सरकार को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।
इस दौरान महेन्द्र मध्देशिया, मोहन, बलदाउ मध्देशिया, रमाशंकर मध्देशिया, सुनील मध्देशिया, प्रकाश मध्देशिया, रामनारायण मध्देशिया, रघुनायक मध्देशिया, सुधीर मध्देशिया, गनेश मध्देशिया, सुरेन्द्र मध्देशिया, शिव जी मध्देशिया, सुरेन्द्र मध्देशिया, अंकित मध्देशिया, दिलीप मध्देशिया, मुरारी साव, नन्दलाल मध्देशिया, भोला मध्देशिया, अंकित मध्देशिया, धमेन्द्र मध्देशिया, जयप्रकाश मध्देशिया, सालिक मध्देशिया, अरविंद मध्देशिया, ममता, किरन, कीर्ति, सुरभि, श्वेता, काजल, शालु, रानी, आरती, अंजनी, अलका, पीहू, परी, गुनगुन, के साथ सैकड़ों की संख्या में मध्देशिया समाज के स्वजातीय बंधु मौजूद रहे। संचालन राधेश्याम मध्देशिया व धन्यवाद ज्ञापन अनिल मध्देशिया ने किया।

रिपोर्ट- मनोज/मिथिलेश
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here