महारानी पद्मावती राष्ट्र का गौरव, मण्डल के किसी जिले में नहीं चलने देंगे फिल्म: संतोष दूबे

0
101

फैज़ाबाद: फिल्म पद्मावत की रिलीज को लेकर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के समर्थन में सर्वसमाज आ गया है। अयोध्या को फिल्म का कड़ा विरोध करके संदेश देने के दावे किये जा रहे है।

सिविल लाईन के निजी होटल में आयोजित खुली परिचर्चा के दौरान सर्व समाज के प्रतिनिधियों के द्वारा 17को डीएम तथा मण्डलायुक्त को ज्ञापन, 24 को मुख्यमंत्री के सम्भावित आगमन पर विरोध जताने का एलान किया गया है। आन्दोलन को धार देने के लिए 11 सदस्यीय रानी पद्मावती संघर्ष समिति का गठन किया गया है। इस समिति की लगातार बैठकें होगी जिसमें आगामी रणनीति बनायी जायेगी।

खुली परिचर्चा की अध्यक्ष सूर्यवंश क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष गुरु प्रसाद सिंह व संचालन संजय महेन्द्रा ने किया। शिवसेना के उपप्रमुख संतोष दूबे ने कहा कि राष्ट्र के गौरव की रक्षा के लिए कदम उठाने के लिए करणी सेना साधुवाद के पात्र है। यह लड़ाई महज करणी सेना की न होकर हर उस व्यक्ति की है जिसे अपने राष्ट्र और अपने पुरखो पर अभिमान है। एक षडयंत्र के तहत भारतीय इतिहास को बदलने का प्रयास किया जा रहा है। महारानी पद्मावती हमारे देश के गौरव का प्रतीक है। उनके अपमान को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मण्डल के किसी जनपद में फिल्म चलने नहीं दी जायेगी।

कार्यक्रम में अखिल भारतीय चाणक्य परिषद के कृपानिधान तिवारी, महिला सेना की भारती सिंह, वेदराजपाल,निरंकार अग्रवाल, राकेश जायसवाल, अनिल पाण्डेय, दिलीप यादव, शंकरी जीत यादव, पूर्व सभासद मुरारी यादव, हरियाणा से आये रामबहादुर सिंह, संजय सिंह, कमलेश सिंह ने अपने समाज व संगठनो की तरफ से आन्दोलनो को पूर्ण समर्थन देने का ऐलान किया। परिचर्चा का समापन अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा एचबी सिंह ने किया। इस अवसर पर पत्रकार विपिन सिंह, योगेन्द्र सिंह,क्रांति सिंह व सर्वसमाज के प्रतिनिधियों की मौजूदगी रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here