आपकी समस्त विद्वता का परिचय

0
504

आपकी समस्त विद्वत्ता, आपका शेक्सपियर और वर्ड्सवर्थ का संपूर्ण अध्ययन निरर्थक है यदि आप अपने चरित्र का निर्माण व विचारों क्रियाओं में सामंजस्य स्थापित नहीं कर पाते।

mahatma gandhi 6

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here