मोहम्मदी मस्जिद के सहन में आयोजित हुआ महफ़िल ए मिलाद

0
71

सिकंदरपुर, (बलिया): तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा जाहिदीपुर शेखपुर में जश्ने ईद मिलादुन्नबी के उपलक्ष में सोमवार की रात को मरहूम जनाब, नवाब साहब के बड़े साहबजादे द्वारा मोहम्मदी मस्जिद के सहन में एक महफिल ए मिलाद का इंतजाम किया गया।

जिसमें सिकंदरपुर से ओलमा और शायरों ने भाग लिया। जिसमें मौलाना समीउल्लाह ने अपने तकरीर में हजरत मोहम्मद (स0) के जिंदगी पर प्रकाश डालते हुए महफिल में बैठे अवाम के लोगों से हजरत मोहम्मद,(स0)के दिखाए धर्म और नेकी की राह पर चलने की गुजारिश की।

मौलाना समीउल्लाह ने अपने तकरीर में कहा कि पैम्बर मोहम्मद(स0) साहब के दुनिया मे आने के बाद ही इंसानियत आबाद हुई,इस्लाम के फर्ज निभाने के साथ ही असहाय एवं जरूरतमंद लोगों की मदद करने का संदेश मिला, तमाम कुरीतियों का अंत हुआ, गुलामों को आजादी मिली,गरीबों मज़लूमो को उनका हक मिला, बेवाओं को शादी करने का हक मिला ,जहालत का अंधेरा दूर हुआ, दुनिया में इस्लाम की रोशनी फैली, तथा उन्होंने पूरी दुनिया को अमन और शांति का पैगाम दिया।

इससे पूर्व महफिले मिलाद के आयोजक हसन रिजवी ने तशरीफ़ लाए उलमा और शायरों का फूल माला पहनाकर इस्तकबाल, (स्वागत) किया।
सिकंदरपुर से नातिया कलाम पढ़ने के लिए पहुंचे एहसान खान, एजाज खान, सद्दाम कुरेशी, अफजल हाशमी,लड्डन भाई, ने मोहम्मद (स0) के सीरते जिंदगी पर लिखी हुई नातिया कलाम पेश किया तथा जमकर लोगों की वाहवाही लूटी शायरों के द्वारा पढ़े गए नात शरीफ को सुनकर महफिल में पधारे सारे लोग झूम उठे।
अंत में फातिया किया हुआ शिरनी (प्रसाद) लोगों में बांटा गया तथा दावत (भोज) भी कराया गया।

रिपोर्ट-इमरान खान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here