महाराजगंज/रायबरेली की प्रमुख खबरें

अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह के समर्थन में संगठनों ने की नारेबाजी
बीते मंगलवार से अनषन पर बैठे तहसील के अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह के समर्थन में तहसील के दोनो संगठन भी समर्थन में आ गये हैं सभी अधिवक्ताओं ने मिलकर एक साथ मामले में कार्यवाही की मांग व तहसील परिसर में घूम-घूम कर नारे बाजी की। गुरूवार को दोनो संगठनों के अधिवक्ता एक मत हो गए। और तहसील प्रशासन के विरूद्व बिगुल फूक दिया।

वकीलों ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अनशन पर बैठे अधिवक्ता को जिला प्रशासन हल्के में ले रहा है। तीन दिन बीतने के बाद कोई अनशनकारी से मिलने तक नहीं गया न ही उनका चिकित्सकीय परीक्षण ही कराया गया। तीन दिन बाद भी अनशनकारी के पास प्रशासन का कोई अधिकारी व कर्मचारी नहीं पहुंचा। तहसीलबार एशेशिएशन के प्रस्ताव पर महराजगंज बार एशोशिएशन भी गुरूवार को अनशनकारी के साथ उतर आया। महराजगंजबार एशोशिएशन के अध्यक्ष शिवसागर अवस्थी व पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र श्रीवास्तव ने सयुक्त रूप से कहा कि यह लड़ाई अब अकेले अधिवक्ता शैलेंद्र सिंह की नही है। समस्त अधिवक्ता समाज की है।

प्रशासन को अपनी कुम्भकर्णीय नींद तोड़नी हेगी। जल्द ही न्याय न मिला तो तहसील ही नहीं पूरे जिले का अधिवक्ता एक होकर प्रशासन को मुहतोड़ जबाब देगा। तहसीलबार एशोशिएसन के अध्यक्ष हरदेव शुक्ला व पूर्व महामंत्री नागेंद्र सिंह ने कहा कि यह लड़ाई आर पार की लड़ी जाएगी। पुलिस प्रशासन को शैलेंद्र सिंह पर दर्ज एफआईआर वापस लेना ही होगा। इस मौके पर विद्यासागर अवस्थी, प्रवीण शुक्ला, सरोज गौतम, दीपू अवस्थी, टिंकू अवस्थी, आदि दर्जनों लोगा मौजूद रहे। एसडीएम एससुधाकरन ने बताया कि अनशनकारी की मांगे गलत हैं। फिर भी प्रकरण की जांच कराई जा रही है। कार्यवाही की जाएगी।

भाजपा नेता पर गेहू खरीद केन्द्र से लेकर सरकारी धन की लूट का लगा आरोप
भ्रष्टाचार विरोधी भाजपा की सरकार में भाजपा के नेता ही भ्रष्टाचार करने में पीछे नही हट रहे हैं। सत्ता की हनक के दम पर भाजपा नेता हर उस कार्य में हाथ डाल रहे हैं जिसमें जमकर भ्र्रष्टाचार व लूट की जा सकें। क्षेत्र में एक भाजपा नेता ने गेहू खरीद केन्द्र लेकर सरकारी धन की लूट शुरू कर रखी है। एक अपर्रल से गेहूं खरीद की शुरुआत होने के बाद शासन द्वारा कुछ नये खरीद केन्द्र आबंटित किए जिसमें यूपी एग्रो का खरीद केन्द्र भाजपा के पूर्व विधायक रहे राजाराम त्यागी द्वारा संचालित वीरांगना झलकारी बाई षिक्षा निकेतन में खोल रखा है। जिस पर क्षेत्रीय किसानों एवं काश्तकारों से नेता के दो गुर्गे बैठकर खुला कमीषन की बात कर रहे है जिसकी आडियो रिकार्डिंग भी किसानों ने उच्चाधिकारियों एवं मीडिया को उपलब्ध करायी है।

मालूम हो की शासन की मंशा को तार तार कर भाजपा नेता को लाभ पहुंचाने की मकसद से स्थापित एग्रो गेहूं क्रय केंद्र पर गेहूं में नमी, कागजों में कमी, टोकन व्यवस्था आदि का हवाला देकर सेंटर से लौटाए जा रहे किसानों की फसल न खरीद सेठ साहूकारों, व्यापारियों के गेहूं की तौल आज भी बदस्तूर जारी है जहां सेंटर से लौटाए जा रहे किसानों एवं गेहूं तौल के नाम पर मांगे जा रहे सुविधा शुल्क की रिकार्डिंग सोशल मीडिया एवं उच्चाधिकारियों तक पहुंचने के बावजूद किसान अपने फसल की तौल का इन्तेजार कर रहे।

वहीं पूर्व विधायक एवं निवर्तमान भाजपा नेता के सेंटर की काली करतूत सामने आने के बावजूद प्रशासन आँख मूंदे धन उगाही की मांग करने वालों की हौसला अफजाई कर रहा है। जिसके चलते किसान योगी सरकार के ही नेता से अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा है। इस सम्बंध में जानकारी को लेकर क्रय केंद्र प्रभारी का फोन लगातार स्विच आफ पाया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here