वाटर फ्रीजर बना शो-पीस ,क्या गर्मी के बाद चालू होगा वाटर फ्रीजर?

0
134

सारंगढ़/छत्तीसगढ़(ब्यूरो)-  नगर पालिका परिषद् सारंगढ़ द्वारा कुछ वर्षो पूर्व पार्षद निधि से नगर के मुख्य चौक जहाँ लोगो की अधिक आवाजाही होती है उन स्थानों पर वाटर फ्रिजर लगवाया गया था जो की वाटर फ्रिजर राहगीरों को ठंडी पेयजल उपलब्ध करता था, उक्त सभी वाटर फ्रिजर कई वर्षो से शो-पीस बने हुए है जिससे नगर सहित ग्रामीण इलाके से आने वाले ग्रामीणों को पेयजल नहीं मिलने से परेशानी होती है।

नगर के सभी वाटर फ्रिजर महज शो-पीस बना हुआ है नगर पालिका परिसद इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है जिससे वाटर फ्रीजर कचरे के ढेर में तबदील हो चूका है। पोस्ट ऑफिस चौक, दुर्गा मंदिर, जय स्तंभ चौक के पास शनि मंदिर के सामने, बस स्टैण्ड, राजेंद्र होटल के बाहर के फ्रिजर के बारे में स्थानीय लोगो से जब पूछा गया तो बताया की उक्त वाटर फ्रिजर को चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स ने लगवाया था जिसका आज तक कोई ध्यान चेम्बर ने नहीं दिया|

जिसके देख-रेख के आभाव में वाटर फ्रिजर ख़राब है तथा अन्य सभी वाटर फ्रिजर पार्षद निधि द्वारा सारंगढ़ के वार्डो के पार्षदों ने वाटर फ्रीजर लगवाया था ,और पार्षदो ने यह अच्छा काम इसलिए किया था कि यह वाटर फ्रीजर लोगो को गर्मी और हर समय शुद्ध पानी की सुविधा शहर के लोगो को देगा, उन्हें क्या मालूम था कि यह वाटर फ्रीजर लगने के कुछ वर्ष बाद ही ख़राब हो जायेगा तथा उसके बाद आज पर्यन्त तक किसी वाटर फ्रीजर का कोई देख-रेख नहीं किया गया जिसकी वजह से राहगीर ठंडे पानी को तरस रहे है |

इस वर्ष लग रहा था की नये युवा अध्यक्ष व् टीम के नगर पालिका में आने से सारंगढ़ के जनता को उम्मीद थी की बहुत कुछ सुविधाये मिलेगी परन्तु आज भी नगर के वाटर फ्रिजर ख़राब पड़े है ।

वैसे भी गर्मी को एक माह से अधिक हो चूका है, राहगीर ठंडे पानी को तरस रहे है 3-4 वर्ष पूर्व इस फ्रीजर ने राहगीरों की प्यास बुझाई थी लेकिन इस बार तेज गर्मी में यह फ्रीजर खुद बीमार हो गया है और नगर पालिका के अधिकारी और जनप्रतिनिधि इस फ्रीजर को चालू करवाने में कोई रूचि नही ले रहे है, जिसके कारण अब यह सिर्फ शो पीस बन गया है तथा नगर में एक भी नगर पालिका द्वारा पेय जल हेतु प्याऊ सेंटर भी नहीं खोलवाय गया है।

अब देखने वाली बात यह होगी की लोगो के घर तक तेज गर्मी में पेयजल कैसे उपलब्ध् होगा जल स्तर के घटने के बाद क्या फिर हर वर्ष की भाती इस वर्ष भी नगर पालिका प्रशासन जनता को रुलाती है या पहले से तैयार है। यह तो आने वाला कल ही बता पायेगा।

रिपोर्ट-बाबू स्वर्णकार/हरदीप छाबड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here