मालेगांव ब्लास्ट में 4 आरोपियों की अर्जी ख़ारिज 8 को किया बरी |

0
340

malegaon

8 सितम्बर, 2006 को महाराष्ट्र के नासिक जिले में हुए बम धमाकों को भारत के सर्वाधिक महत्वपूर्ण आतंकवादी घटनाओं में से एक माना जाता है। ये धमाके एक मुस्लिम कब्रगाह में हुए जिसमें कम से कम 30 जाने गईं और कोई 125 लोग घायल हो गये थे | महाराष्ट्र के चीफ मिनिस्टर विलासराव देशमुख और कांग्रेस पार्टी प्रमुख सोनिया गाँधी ने शांति बनाये रख्नने के लिए कहा था| 30 अक्टूबर को 9 मुंबई के डीजीपी ने तीन संदिग्ध को गिरफ्तार किया था |इसके बाद 2013 में (नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी) NIA ने चार लोगों को जिनका नाम लोकेश शर्मा ,धन सिंह ,मनोहर सिंह और राजेंद्र चौधरी है सभी ‘अभिनव भारत’ ग्रुप से जुड़े हुए थे | महाराष्ट्र पुलिस ने संदिग्ध ‘बजरंग दल,लश्कर-ए-तोइबा,जैस्श-ए-मोहम्मद’ इन ग्रुपों पर आरोप लगाया ,लेकिन इनके बारे में कोई सबूत नहीं मिले |

मालेगांव ब्लास्ट मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की स्पेशल कोर्ट ने चार हिंदू आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर दी|सोमवार को हुई सुनवाई में आरोपियों ने कहा कि एनआईए की ओर से उन्हें गलत तरीके से फंसाया गया है,उनका इस मामले में कोई हाथ नहीं है |मनोहर , राजेंद्र चौधरी, धन सिंह और लोकेश शर्मा नाम के आरोपियों ने इसी साल फरवरी महीने में जमानत की अर्जी दाखिल की थी| मालेगांव ब्लास्ट मामले को लेकर देश में सभी की निगाहें इस पर बनी हुई है |

NIAकी ओर से दाखिल की गई चार्जशीट में कहा गया था कि आरोपी धन सिंह और लोकेश शर्मा के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है. ‘चार्जशीट में कहा गया है कि अब तक के पर्याप्त सबूतों में कुछ भी धन सिंह और लोकेश शर्मा के खिलाफ नहीं है, इनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश नहीं की जा सकती|

इसी साल अप्रैल महीने में स्पेशल एनआईए कोर्ट ने नौ मुस्लिम आरोपियों को आरोपों से बरी कर दिया था| इन आरोपियों के खिलाफ एटीएस और सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल किया हुआ था| मालेगांव ब्लास्ट में लगभग 30 लोगों की मौत हुई थी और 125 अन्य घायल हुए थे|

केंद्र में सत्तासीन बीजेपी ने रविवार को कांग्रेस के उन आरोपों को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया कि मालेगांव मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय के ‘सीधे दखल’ के कारण एनआईए का रुख पलटा| बीजेपी ने इस बात पर जोर दिया कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और अन्य से आरोप हटाया जाना कानून के अनुरूप हुआ| एनआईए ने शुक्रवार को मालेगांव ब्लास्ट में साध्वी प्रज्ञा समेत 6 आरोपियों के खिलाफ लगे सारे आरोपों को खारिज कर दिया| इस संबंध में एनआईए ने शुक्रवार को विशेष कोर्ट में पूरक आरोप पत्र भी दायर किया |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here