मम्मी पापा हम नही जाएंगे अपने स्कूल क्योंकि वहा नही है कोई सुविधा

0
77

ऊंचाहार/रायबरेली (ब्यूरो)- ब्लाक के अन्तर्गत उपस्थिति अधिकांश होने होने के बावजूद पूर्व माध्यमिक विद्यालय जमुनापुर संसाधनों के अभाव मे अपने आप विभाग का पोल खोल रहा है जिसके कारण यहां पर बाउंड्रीवाल नही है यहां तक की मिट्टी का भरपायी नही किया गया जिसके कारण जलभराव के अलावा यहां पर शौंचालय तक निप्रयोग है जिसके कारण यहां पर खुले मे शौंच जाने पर शिक्षक से लेकर बच्चों तक मजबूर है।

हम बात कर रहे है जिला रायबरेली के वीवीआईपी क्षेत्र के ब्लाक ऊंचाहार के अन्तर्गत आने वाले पूर्व माध्यमिक विद्यालय जमुनापुर की जिसको सन् 2007-8 मे बनाया गया है जहां पर ब्लाक स्तर मे बच्चों की संख्या मे तीसरे नंबर का विद्यालय जाना जाता है। इस सत्र मे इस विद्यालय मे कुल 235 बच्चे पंजीकृत है जिसमे 107 बालक व 128 बालिकाएं है। जहां पर प्रधानाध्यापिका शांती त्रिपाठी व एक पुरूष अध्यापक व तीन अनुदेक है। जिसमे प्रधानाध्यापिका की मेहनत गांव गांव घूमकर बच्चों की उपस्थिति हेतु रंग लायी जिसके कारण बच्चों की उपस्थिति मे ब्लाक स्तर मे ये विद्यालय बच्चों की पंजीकृत संख्या के अधार पर तीसरे नंबर पर है। जहां पर बच्चों की बैठने की व्यवस्था महज टाट पट्टी ही है।

इस विद्यालय मे बाऊंड्ीवाल नही है, विद्यालय की परिसर में मिट्टी भरपायी समुचित न होने पर विद्यालय मे हुए बरसात के कारण जलभराव तक बना हुआ है जिससे होकर ही बच्चों से लेकर अध्यापक तक आते जाते हैं। बच्चों की संख्या के अधार पर यहां पर शुलभशौंचालय तो बने है लेकिन वह निप्रयोग ही है जिसके कारण यहां पर शिक्षक, शिक्षिका एवं बालक बालिका तक खुले मे जाने शौंच हेतु जाने मे मजबूर है ये वाक्या साफ-साफ प्रधानमंत्री के योजनाओं की पोल खोलने के लिये काफी है क्योंकि विसचुनाव से लेकर कई बार शुलभ शौंचालय तक को दुरूस्त करने के लिये विभागी आदे पारित हुए लेकिन यहां पर शौंचालय की दा जस की तस पडी हुई है हलाकि देखा जाये तो प्रधानमंत्री ने परादीय विद्यालयों के शुलभ शौंचालय बनवाने व उसका प्रयोग करने के लिये कई बार विभागी आदे पारित किया है लेकिन विभागी उदासीनता के कारण यहां की शौंचालय प्रयोग हित आज तक नही हुए है।

प्रधानाध्यापिका शांती त्रिपाठी ने बताया कि विद्यालय की समस्या तो है जिसके लिये विभागी लिखापढी किया गया है हमने बच्चों की संख्या बडाने के लिये गांव गांव जो प्रयास किया उसमे हमारा विद्यालय ब्लाक मे तीसरे नंबर पर पंजीकृत छात्र मे है। उधर खण्डिक्षाधिकारी अनिल त्रिपाठी ने बताया कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय मे शौंचालय व जलभराव की समस्या के लिये विभागी कार्यवाही किया जायेगा जिसमे शौंचालय व विद्यालय बनवाने वाले के गुणवत्ता की भी जांच होगी।

रिपोर्ट- अनुज मौर्य /सर्वेश 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY