पिछले डेढ़ साल से बिना दिल के जीवित था यह आदमी, बैग में रखकर चलता था दिल |

0
963

stan-larkin

अमेरिका के 25 साल के स्टान पिछले डेढ़ साल से बिना दिल के रह रहे थे, डॉक्टरों में उन्हें एक कृत्रिम दिल लगाया था, जो उनके दिल की जगह उनके शरीर का ब्लड सर्कुलेशन को बनाये रखता था | इस वजह से स्टान को 24 घंटे इस दिल को बैग में अपने साथ रखना पड़ता था |

दरअसल, स्टान लारकिन और उनके सगे भाई डोमिनिक को बचपन में पता चला था कि उन्हें हेरिडिटी कार्डियोमायोपैथी बीमारी है। इसमें दिल कभी भी बिना अलर्ट के काम करना बंद कर देता है। ये काफी रेयर बीमारी है। इसके बावजूद दोनों भाई हौसला नहीं हारे। वे नॉर्मल जिंदगी जीते रहे। 2014 में अचानक दोनों भाइयों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

डॉक्टरों ने बताया कि उनके दिल का ट्रांसप्लान्ट करना होगा। डोनर नहीं मिलने की वजह से डॉक्टरों ने कृत्रिम दिल लगाने का फैसला किया। छोटे भाई को जनवरी 2015 में डोनर मिल जाने से दिल का ट्रांसप्लान्ट कर दिया गया। पर स्टान को मई में डोनर मिला।

स्टान 555 दिन तक आर्टिफिशियल दिल के सहारे जिंदा रहे। यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है। इस आर्टिफिशियल दिल का वजन 6 किलो था। स्टान कई बार इसे पहनकर बॉस्केटबाल भी खेलता था। इसे देखकर डॉक्टर भी हैरान थे। स्टान ने कहा – “मुझे दो हफ्ते पहले ट्रांसप्लान्ट के बाद अस्पताल से छुट्टी मिली है। मैं काफी खुश हूं कि मैं अब दौड़ भी पाऊंगा। मैं उस डोनर को शुक्रिया बोलना चाहता हूं, जिसने मुझे ये नई जिंदगी दी है। मैं उसके परिवार से एक दिन जरूर मिलना पसंद करूंगा। मुझे उम्मीद है कि वे भी मुझसे मिलना चाहेंगे।”

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here