मण्डलायुक्त ने तहसील, थाना व अस्पताल का किया औचक निरीक्षण

बलिया(ब्यूरो)- मण्डलायुक्त के. रविन्द्र नायक ने बुधवार को सदर तहसील, कोतवाली व जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने साफ सफाई को और बेहतर ढ़ंग से करने का निर्देश दिया। वहीं अस्पताल में भी मिली कमियों को दूर करने को कहा।

बुधवार को डीआईजी उदयशंकर जायसवाल के साथ जनपद भ्रमण पर आए कमिश्नर ने सदर तहसील के निरीक्षण के दौरान अपेक्षित साफ सफाई नही मिलने पर कहा कि कोने-कोने की भी गंदगी साफ कर ली जाए। तहसील में लगे आरओ की भी सर्विसिंग आदि समय से कराने को कहा। आरओ के पास गंदगी मिलने पर नाराजगी जताई। फॉयर सर्विस यंत्र को चेक कर लेने को कहा। तहसील के बाहर बिखरे तारों को व्यवस्थित करने का निर्देश दिया। उन्होंने प्रत्येक कमरों में जाकर साफ सफाई व वहां के कार्य सम्बन्धी पूछताछ की। राजस्व वादों के निस्तारण के सम्बन्ध में सख्त निर्देश दिये।

थाने से संतुष्ट होकर जाएं फरियादी-
मण्डलायुक्त के. रविन्द्र नायक ने शहर कोतवाली पहुंच कर महिला थाना की व्यवस्था सम्बन्धी पूछताछ की। कहा कि परिवार परामर्श केंद्र पर अधिक से अधिक पारिवारिक मामलों को सुलह समझौता कराकर निस्तारित किया जाए। फर्श पर प्लास्टिक की मैट लगवाने का निर्देश दिया। शिकायत पेटिका की चाभी सीओ के पास रहे और प्रतिदिन शाम को खुले। कोतवाली में फॉयर यंत्र दुरूस्त हो। फॉयर बॉल्टी में बालू भरकर रखने का निर्देश दिया। एसपी सुजाता सिंह को निर्देश दिया कि कबाड़ गाड़ियों का डिस्पोजल कराएं। बड़ी गाड़ियों को नियमानुसार नीलामी की कार्रवाई कर ली जाए। इसके बाद भी जो डिस्पोजल न हो सके उसको व्यवस्थित ढ़ंग से किसी एक जगह रखा जाए। परिसर साफ सुथरा दिखना चाहिए।

कोतवाल को निर्देश दिया कि थाने में आने वाले फरियादिरयों को इस तरह सुनें जिससे वे संतुष्ट होकर थाने से जाएं। यह भी कहा कि कोतवाली क्षेत्र के दस बड़े अपराधी, दस वरिष्ठ नागरिक, स्थानीय जनप्रतिनिधि, पीस कमेटी के सदस्य आदि का नाम मुजबानी याद रहे। त्यौहार रजिस्टर समेत सभी प्रकार के रजिस्टर अपडेट रहे। कमिश्नर ने कहा कि भूमि विवाद के मामलों में पुलिस व राजस्व विभाग की टीम आपस में सामंजस्य बैठाकर शीघ्र निस्तारण करे। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम, डीआईजी उदय शंकर जायसवाल, एसपी सुजाता सिंह, सीडीओ संतोष कुमार, एडीएम मनोज सिंघल आदि साथ रहे।

जिला अस्पताल की व्यवस्था में और सुधार की जरूरत-
जिला अस्पताल पहुंचे मण्डलायुक्त के. रविंद्र नायक ने इमरजेंसी वार्ड में मरीजों से चिकित्सा व्यवस्था की जानकारी ली। वहां की व्यवस्था पर संतोष जताया लेकिन साथ ही और बेहतर करने की जरूरत बताई। मरीजों को अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं को बताते हुए कहा कि इसमें कोई भी सुविधा न मिले तो सीधे उच्चाधिकारियों को फोन कर बताएं। मण्डलायुक्त सीएमएस कार्यालय में जाकर साफ सफाई व अन्य अभिलेखों को देखा। कार्यालय के बाहर शिकायत/सुझाव पेटिका तथा सीटिजन चार्ट लगवाने का निर्देश दिया। कहा कि अस्पताल में मिलने वाली हर सुविधाओं को दीवाल लेखन किया जाए ताकि आम जनता को इसकी पूरी जानकारी हो सके। इमरजेंसी में शौचालय में एग्जास्ट लगवाने को कहा। पोस्टमार्टम हाउस को फुल वातानुकूलित करने का निर्देश दिया। अस्पताल की दूसरी मंजिल पर बने प्राईवेट वार्ड की स्थिति भी देखी। सीएमएस ने बताया कि वेक्टर जनित रोगों, डायरिया आदि जैसे रोगों के लिए अलग-अलग बने वार्ड को दिखाया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम, सीडीओ संतोष कुमार, एडीएम मनोज सिंघल आदि साथ रहे।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY