जहाँ कभी आज़ादी के मतवालों को दी जाती थी फाँसी, आज उसी खुले आसमान के नीचे लहरा रहा है दुनिया का सबसे बड़ा तिरंगा

0
1825
रांची- एक समय पर जहाँ कभी लिखी जाती थी शहीदों के शहादत की कहानी आज उसी गगन के तले लहरा रहा है दुनिया का सबसे बड़ा और ऊँचा भारत का गौरवमयी तिरंगा I रांची के प्रसिद्द पहाड़ी मंदिर या फिर हम कहें तो जिसे फांसी डूंगरी के नाम से भी जाना जाता है, आज वहीं उसी स्थान पर देश के रक्षामंत्री श्री मनोहर परिर्कर ने दुनिया का सबसे ऊँचा और बड़ा तिरंगा झंडा फहरा दिया है I ज्ञात हो कि भारत के राष्ट्रीय झंडे तिरंगे को 293 फुट के एक स्तम्भ के ऊपर फहराया गया है I इस झंडे की माप 66X99 फुट है I जो कि पूरी दुनिया में किसी भी देश का सबसे उंचाई पर और सबसे बड़ा फहराया जाने वाला झंडा है I
रक्षामंत्री मनोहर परिर्कर ने झंडा रोहण के वक्त मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा है कि, “देश का सबसे ऊँचा, भव्य और विशाल राष्ट्रीय ध्वज फहरा कर काफी अच्छा मह्शूश कर रहा हूँ, यहाँ पर इस भव्य झंडे को फहराता हुआ देखकर काफी अधिक गौरवान्वित मह्शूश कर रहा हूँ I इस झंडे की एक नज़र के लिए कई स्थानीय रहवासी अपने कैमरे से फोटो लेने की कोशिश कर रहे थे और कुछ लोग अपनी सेल्फ़ी भी लेते हुए नज़र आये I
mahonahr parirkarपहाड़ी मंदिर समिति, जिन्होंने इस झंडे को लगाने की पहल की थी, उन्होंने बताया कि ये दुनिया का सबसे ऊंचा और विशाल तिरंगा है जिसके लिए लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स को पत्र लिख दिया गया है और गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स को भी जल्द ही लिखा जायेगा I
सरकारी उपक्रम, मेकॉन ने इस झंडे के स्तंभ को बनाया है जो कि तेज़ हवा, भूकंप और प्राकृतिक आपदाओं से तिरंगे को सुरक्षित रखेगा. इसमें तड़ित-विरोधी टेक्नोलॉजी का उपयोग हुआ है और एयरक्राफ्ट वॉर्निंग सिग्नल भी लगा हुआ है. झंडा भी पैराशूट के कपड़े से बना हुआ है जो कि तेज़ हवाओं से तिरंगे को बचाएगा I देश की शान और अभिमान, इस तिरंगे को शहर के दूर-दराज़ इलाकों से भी देखा जा सकता है I
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here