कई विभागों में अब तक नहीं दिख रहा है योगी सरकार का असर

0
92

उत्तर प्रदेश(राज्य ब्यूरो)-  एक ओर सरकार बदली अखिलेश सरकार का बदलाव हुआ और प्रदेश की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथो में आई| योगी, जिसने कुशल शासक की तरह भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करने के बहुत सारे फरमान जारी कर दिए जनता को अहसास हुआ शायद अब भ्रष्टाचार से मुक्ति मिल जाए लेकिन योगी जी कितने भी सख्त आदेश क्यूँ न कर दे लेकिन यहां के अधिकारी कर्मचारियो के मन में भ्रष्टाचार का समावेश हो चुका है वो बिना भृस्टाचार के कार्य नही कर सकते है|

ऐसा ही मामला हसनगंज तहसील में देखने को मिलता है जहाँ अधिकारी कर्मचारी की मिली भगत के चलते तालाब को पाट करके रहने के लिए आवास बनाया जा रहा है| तहसील क्षेत्र के ग्राम खपुरा मुस्लिम में वन विभाग की सैकड़ो बीघा जमीन पड़ी हुई है जिस पर अधिकतर जमीन पर अधिकारियों की मिली भगत के चलते ग्रामीणों ने अवैध रूप से जोत बो रखा है| जिसे तमाम शिकायतों के बाद भी विभाग खाली नहीं करा पाया है और कराये भी क्यूँ उन्होंने ही तो उन्हें ले दे कर कब्जा कराया है जब कोई शिकायत होती है तब जांच के नाम पर कार्यवाही का कोरम पूरा कर दिया जाता है| बात अगर खेती तक ही सीमित हो तो ठीक लेकिन अधिकारियों ने भ्रष्टाचार की हद ही पार कर दी| जब एक तालाब को पटवा कर उस पर आवास बनाने दे रहे है |

आपको बताते चले की उक्त गाँव के मध्य में एक तालाब है जिसको मिट्टी से पाट कर गाँव के ही इश्तियाक ने आवास रुपी भवन बनाना शुरू किया है| उक्त स्थान को कोई भी देख कर बता सकता है कि वो कब्जा अवैध है लेकिन वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी और यहां तक लेखपाल ने भी उस कब्जे को वैध करार दिया है| शायद ये वैध देने का फैसला उनका स्वयं का नही बल्कि कब्जेदार द्वारा दी गई सुविधा शुल्क का है| ग्राम प्रधान भी उक्त निर्माण में बोलना नहीं चाहता है
इससे तो यही लगता है कि योगी जी कितनी भी कोशिश कर ले लेकिन उत्तरप्रदेश को भृस्टाचार मुक्त प्रदेश नही बना सकते है|

रिपोर्ट- राहुल राठौर

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here