बीएलओ की लापरवाही के चलते कई नाम वोटरलिस्ट से रहे गायब, लोगों में असंतोष

0
190
प्रतीकात्मक

आजमगढ़ : 17वीं विधानसभा चुनाव में मतदान भले ही संपन्न हो गया है लेकिन बीएलओ की लापरवाही से वोटरलिस्ट में नाम न रहने की वजह से मतदान से वंचित मतदाताओं को मत न डाल पाने का अब भी मलाल है। वह शासन-प्रशासन व बीएलओ को कोसते नजर आ रहे हैं। इन लोगों का कहना है कि बीएलओ की लापरवाही की वजह से वह लोग मतदान से वंचित रह गए। उन्हें अपना मनोवांछित प्रत्याशी चुनने का मौका नहीं मिला।

 

शनिवार को हुए विधानसभा चुनाव में हर बूथ पर एकाध दर्जन ऐसे मतदाता थे जिनका नाम मतदाता सूची में था ही नहीं। 2014 में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में इन लोगों ने मतदान किया था। इसके बावजूद इन लोगों का नाम मतदाता सूची से गायब था। प्रशासन इनके मतदान करने की व्यवस्था वैकल्पिक करने की घोषणा किया था लेकिन इसका कहीं कोई पालन नहीं हो रहा था। आधार कार्ड व परिचय पत्र लेकर ऐसे लोग भटकते रहे। शहर के मातबरगंज सहित कई मोहल्लों में लोगों का नाम वोटरलिस्ट से गायब था। शहर के मातबरगंज मोहल्ला निवासी निधि, हर्षिता, प्रियंका गुप्ता, दीपमाला, सुमन गप्ता भी मतदान से वंचित है। इसके अलावा जगजीवन यादव के पूरे परिवार का नाम ही वोटरलिस्ट से गायब है। तमाम नवयुवक भी आवेदन तो किए थे लेकिन उनका भी नाम वोटरलिस्ट में नहीं मिला। इससे वह भी वंचित रह गए। तमाम ऐसे लोगों का नाम भी वोटरलिस्ट में रहा जिनकी मृत्यु हो गई है। कुल मिलाकर मतदान करने से वंचित रहने वालों के समक्ष पछतावे के सिवा अब कुछ विकल्प नहीं बचा है।

रिपोर्ट–संदीप त्रिपाठी संगम

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here