बेटियों के उत्पीड़न के खिलाफ कई संगठनों ने उठाई आवाज

0
263

देहरादून (ब्यूरो) – बेटियों के उत्पीड़न के खिलाफ रविवार को दून के विभिन्न संगठनों ने अपनी आवाज बुलंद की। एकता का परिचय देते हुए अलग अलग स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए। बेटियों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों को रोकने की बेटियों के उत्पीड़न के खिलाफ रविवार को दून के विभिन्न संगठनों ने अपनी आवाज बुलंद की। एकता का परिचय देते हुए अलग अलग स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए। बेटियों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों को रोकने की मांग की। साथ ही कठुआ और उन्नाव की घटनाओं पर रोष व्यक्त किया। और आजाद अली ने यह भी कहा कि हिंदू हो या मुसलमान महिलाओं का सम्मान जरूरी है और जिस तरह से उन्नाव के भाजपा के विधायक ने गैंग रेप किया और कुछ दिन बाद विधायक की पिटाई से उसके पिता की मौत हो गई थी इसकी निंदा करते हुए उन्होंने कहा है कि इन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए|

मुस्लिम युवाओं ने रविवार को परेड ग्राउंड से लेकर कचहरी स्थित डीएम कार्यालय तक रैली निकाल कर आसिफा के लिए न्याय मांगा। साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों में बेटियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की। रविवार को मुस्लिम सेवा संगठन समिति के बैनर तले बड़ी संख्या में युवा कार्यकर्ता परेड ग्राउंड में जमा हुए। यहां ऐसे लोगों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की जो बेटियों के सम्मान को ठेस पहुंचाने का काम कर रहे हैं। समिति के कार्यकर्ताओं ने कहा कि उन्नाव, जम्मू कश्मीर और गुजरात में हुई घटनाएं निंदनीय हैं। बेटियों पर दुराचार के मामले में लगतार बढ़ रहे हैं। केंद्र सरकार ऐसे मामलों को गंभीरता से नहीं ले रही। जुल्म का शिकार हुई आसिफा के लिए न्याय की मांग की गई। रैली के दौरान आजाद अली प्रदेश सचिव कांग्रेस पार्टी, धामावाला इमाम साहब शमीम, नूर आलम, तैयब, दानिश, मोनू, दीपक रावत, नितिन कुमार, संदेश यादव सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here