समस्तीपुर जंक्शन की सुरक्षा पर उठ रहे कई सवाल

0
502

railway station
समस्तीपुर : रेल मंडल का सबसे महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन समस्तीपुर की सुरक्षा-व्यवस्था पर अब कई सवाल उठने शुरू हो गए है. माओवादी एवं अन्य उग्रवादी संगठनों के क्रियाकलापों को लेकर अक्सर इस रेलवे जंक्शन को हाई अलर्ट पर रखा जाता है, जब यह स्थिति आती है तो आरपीएफ एवं जीआरपी के कर्मियो द्वारा समान्य तरीके से जो संभव हो सकता है, वह सुरक्षा की दृष्टि से किया तो जाता ही है, लेकिन आज के इस आधुनिक युग में सिर्फ इससे काम चलने वाला नहीं है, इसी के मद्देनजर रेल प्रशासन द्वारा समस्तीपुर जंक्शन के सभी प्लेटफार्मो के अलावा रेल परिसर के प्रमुख स्थानो पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, लेकिन इसकी उचित देख-रेख के अभाव में अब अधिकांश कैमरे खराब हो चुके है, जिससे तीसरी आंख से इसकी निगरानी सही ढंग से नही हो पाती है, अपराध नियंत्रण या किसी भी घटना की तह तक पहुचने में सीसीटीवी कैमरे महत्वपूर्ण योगदान होता है, देश में हर ओर हर कोई तकनीक के साथ खुद को अपग्रेड कर रहा है, लेकिन समस्तीपुर जंक्शन पर रेलवे इस मामले में पिछड़ता नजर आ रहा है |

स्टेशन की निगहबानी करने वाली तीसरी आंखे खराब है. यहां लगे सीसी टीवी कैमरे मे अधिकतर वर्षो पुराना है. जिसके कारण असमय खराब रहते है और जो काम कर रही है. उनमें लाइव सीन रिकार्ड की व्यवस्था नही है, ऐसे स्टेशन परिसर में हर वक्त संदिग्ध पर नजर रखने का रेलवे का दावा खोखला साबित हो रहा है, यार्ड में लगी सीसीटीवी कैमरे भी खराब पडा हुआ है, इस तरह देखा जाए तो इस महवत्पूर्ण जंक्शन पर जहां दिन-रात यात्री एवं ट्रेनो का आना-जाना बना रहता है, वहां इस ढंग की लापरवाही बरतना आम जनता की निगाह में न्यायोचित नही है. इस संबंध में पूछे जाने पर आरपीएफ इंस्पेक्टर नाथून मांझी ने बताया कि रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियो को इसकी सूचना दे दी गई है.जल्द ही खराब कैमरे को ठीक करा दिया जाएगा |

रिपोर्ट – रंजीत कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here