जीएसटी के विरोध में बाज़ार बंद, व्यापारियों ने की सुधार की बात

0
46

मऊरानीपुर/झाँसी(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश उधोग व्यापार प्रतिनिधि मंडल व् उत्तर प्रदेश व्यापार मण्डल मऊरानीपुर के संयुक्त तत्वाधान में 30 जून को देशव्यापी बंद के अंतर्गत मऊरानीपुर के समस्त व्यापारियों ने अपने कारोबार को बंद रखा। एक देश एक टैक्स जीएसटी के विरोध कर इसे आधी-अधूरी तैयारी से लागू किया जा रहा है। काउंसलिंग एवं अधिकारियों द्वारा किए गए नियम व्यापारियों के हित में नहीं है । जीएसटी के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न एवं शोषण होगा । जिससे देश का एक छोटा व्यापारी खत्म हो सकता है । ऐसी कठिन प्रक्रिया वाला टैक्स लाया जा रहा है।

देश के 70 प्रतिशत व्यापारियों के पास कंप्यूटर नहीं है। उन्हें ऑनलाइन करने में तमाम प्रकार की समस्याएं आएंगी। इनपुट टैक्स क्रेडिट की व्यवस्था में परिवर्तन करें, रिटर्न फाइल ना हो तो व्यापारियों को जिम्मेदार ना माने, ई वे बिल की सीमा 50 हजार से 5 लाख करें। अपन जी के व्यापारी से कच्चे माल पर रिवर्स चार्ज न लें, पैनल्टी की व्यवस्था 1 साल के लिए स्थगित हो, सजा और जेल के प्रावधान को खत्म किया जाए, 30 जून तक बच्चे स्टॉक पर आईटीसी का लाभ मिले, मंडी शुल्क को समाप्त कर जीएसटी में समाहित हो जैसी विसंगतियों में सुधार करने की मांग की। कृष्ण मोहन पुरवार, प्रमोद चतुर्वेदी, संजीव पाठक, दीपू मोदी, अमित कटारे, रामगुलाम सोनी, आशीष बिलैया, मनीष अग्रवाल, अखिलेश सेठ, विजय विलेया सहित अन्य व्यापारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट- रवि परिहार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY