विवाहिता को बच्चा गिराने के लिए किया जा रहा मजबूर

0
231

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- 6 जून को कोतवाली मानधाता के सामने हनुमान मंदिर के प्रांगण में स्थित शंकर पार्वती के मंदिर में शादी के दौरान ग्राम प्रधान सत्येंद्र सरोज पति महेंद्र विश्वकर्मा तथा सास गीता देवी सगी बहन शांति देवी विजय विश्वकर्मा चांदनी की मां आरती तथा क्षेत्र के संभ्रांत लोगों की मौजूदगी में मंदिर प्रांगण में शादी हुई चांदनी अपने पति सास के साथ ससुराल गई| कल दिनांक 9 जून 17 को चांदनी के पति महेंद्र विश्वकर्मा तथा चांदनी की सास गीतादेवी चांदनी का मोबाइल छीन लिए, सिमसिम लिए और कहा कि अपने बच्चे को दवा खाकर गिरवा दो या मेरे साथ अस्पताल में चलकर सफाई करा लो| तभी घर में रहने पाओगी नहीं तो घर से निकालकर बाहर कर देंगे|

यह सब सुनकर चांदनी आज सुबह कोतवाली मांधाता आकर अपने पति महेंद्र विश्वकर्मा तथा सास गीता देवी के विरुद्ध स्थानीय कोतवाली मानधाता में लिखित प्रार्थना पत्र दिया है| चांदनी के गर्भ में पल रहे बच्चे को तथा चांदनी स्वयं को अपने पति महेंद्र विश्वकर्मा गीता देवी से जान को खतरा चांदनी में इसकी लिखित सूचना 10 जून 17 को कोतवाली मानधाता में दिया है|

 

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here