राष्ट्रंपति का अंतर्राष्ट्री य मादक पदार्थ सेवन और अवैध व्या‍पार निषेध दिवस पर संदेश

0
221

Free slot casino yzreplay

भारत के राष्ट्रपति महामहिम श्री प्रणब मुखर्जी
भारत के राष्ट्रपति महामहिम श्री प्रणब मुखर्जी

मादक पदार्थों का सेवन एक मनोवैज्ञानिक-सामाजिक-चिकित्सशकीय समस्याअ है जिसके लिए एक पूर्णतावादी दृष्टिकोण और व्याैपक उपचार कार्यक्रम अपनाने की जरूरत है। इस बात पर मुख्य रूप से ध्याणन दिया जाना चाहिए कि नशा करने वालों को नशे की आदत से मुक्ति, अपराध मुक्ति और लाभप्रद रूप से काम पर लगाने योग्यक बनाकर समाज के लिए उपयोगी सदस्यि बनाया जाए। मादक पदार्थों के दुरूपयोग के खतरनाक प्रभावों के बारे में निरंतर जागरूकता पैदा करना जरूरी है। सामुदायिक संसाधनों को एकजुट करने और समुदाय की अधिक भागीदारी पर जोर दिया जाना चाहिए। इसके अलावा कानून प्रवर्तन एजेंसियों को मादक पदार्थों का सेवन करने वालों की जरूरतों के प्रति संवेदनशील बनाया जाना चाहिए ताकि इन लोगों का पुनर्वास हो सके और इन्हेंव समाज से जोड़ा जा सके।
मैं मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूहरो और अन्यल कानून प्रवर्तन एजेंसियों को इस अवसर पर शुभकामनाएं देता हूं। मैं सभी साझेदारों से आग्रह करता हूं कि वे मादक पदार्थों के सेवन की समस्याज से पूर्णतावादी और संवेदनशील तरीके से निपटें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Casino tokens 3 + 15 =