भीषण तूफ़ान से आम की बगानें बर्बाद

0
60

हसनगंज/उन्नाव(ब्यूरो)- बीती रात में ढाई घंटे तक चली आँधी तूफान ने आम फल पटटी के आम बागानो की आमिया झोर दी। जिससे खाद दवा व सिंचाई भी निकालना किसानो के सामने संकट पैदा हो गया है। वही तूफान से पेड उखड कर बिल्डिंग पर गिरने से क्षतिग्रस्त हो गया। पीडित ने वन विभाग से मुआयजे की मांग की है।

तहसील की हसनगंज बलाक नबबे के दशक से कागजो पर आम फल पटटी घोषित है लेकिन सुविधाये न मिलने से वैसे ही इस बार आम की फसल कमजोर होने से ठगा जैसा महसूस कर रहा था। इस बार खाद दवा व सिंचाई तो की। फिर आम बगानो मे दस फीसदी भी आमिया नही रूकी। इस पर आम का अच्छा व्यवसाय करने वालो मे पूरव प्रमुख सुखबीर सिंह यादव, अशोक सिंह , राम भजन सिंह, शिव सिंह, विनोद कुमार दूबे, बिपिन कुमार सहित दर्जनो किसानो की माने तो आम सीजन मे पहली ही इतना बडा तूफान आया कि अभी अमिया किसी तरह से मजबूत नही हो पाई थी कि कच्ची ही गिर गयी। वैसे भी आम कम था और आँधी ने सब ढेर हो गयी जो किसी कीमत की नही है। फिर भी फरहदपुर आम मंडी मे खटाई बनाने के लिये सौ से डेढ सौ रूपये प्रति कुंतल बिक्री हुई। जिससे किसानो का भाडा तक निकलना मुशिकल बना रहा।

इस बार हसनगंज का दशहरी, चौसा, बनारसी लंगडा, लखनउवा आम विदेशो की आम मंडिया मे नही पहुंचने की व्यापारियो ने अशंका जता रहे है। भीषण आँधी तूफान ने चाहे मोहान अजगैन हो या फिर लखनउ बांगरमउ या फिर हसनगंज रसूलाबाद रोड हो मुंशीगंज अजगैन रोड किनारे पेडो के धराशायी होने से मार्ग अवरुद्ध रहा वन विभाग कर्म चारी सुबह आये तो रोड साफ हुआ।गज्जफर निवासी विजय अवसथी ने बताया कि भवन के सामने खडे उकेलिप्टस को कटाने के लिये वन विभाग से लिखित शिकायत करने के बाद भी ध्यान नही दिया। जिससे बीती रात मे तेज आँधी मे बिल्डिंग पर पेड गिरने से ध्वस्त हो गयी । जिससे पीडित का लाखो रूपये का नुकसान हुआ है।

रिपोर्ट- राहुल राठौर 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY