मेले मे दिखती है सामाजिक सास्कृति: सीओ आत्म प्रकाष

0
140

 

करहल/मैनपुरी (ब्यूरो)- रामलीला माहोत्सव के तत्वाधान मे ग्रीष्म कालीन नुमाईष श्री गंगा राष्टृीय विकास प्रदर्शनी शुभारम्भ क्षेत्राधिकारी आत्म प्रकास यादव ने फीताकाट कर व दुकानादारो से परिचय प्राप्त कर किया। इस दौरान उन्होने कहा कि मेले से समाजिक सस्कृति पैदा होती है। इसलिये समय समय पर ऐसे आयोजनो का होना बेहद जरूरी होता है।

रामलीला मैदान मे लगी ग्रीष्म कालीन नुमाईश के मुख्य अतिथि के वतौर पुहचे क्षेत्राधिकारी आत्म प्रकास यादव का रामलीला महेात्सव कमेटी ने भव्य फूलमालाओ से लादकर भव्य स्वागत सत्कार किया। इस दौरान उन्होने कहा कि मेले को घूमने से बच्चो का मानसिक विकास बडता है। इसलिये मेले मे बच्चो को पूरी फैमली के साथ घुमाये। उन्होने बताया कि आज के समय मे मेला संस्कृति से दूर हेाता जा रहा है। और इसके साथ ही विलुप्त भी हो रहा है। मेले या नुमाईष को लगाना बहुत ही गर्व की बात होती है।

क्षेत्राधिकारी आत्म प्रकाष यादव ने युवाओ से अपील करते हुये कहा कि जिस तरह रामलीला मैदान मे यह प्रदर्षनी लगी है। इसी तरह आप सभी अपना समय और सहयोग देकर इस प्रदर्षनी को और आगे तक ले जाये और आगे इसे और भव्यता दे। ताकि यह विख्यात होकर जिले मे ही नही आस पास के जिलो मे अपनी एक अलग क्षटा विखेरे।

इस मौके पर चैकी इन्चार्ज महक ंिसह बालियान, सचिव नितिन चतुर्वेदी, अमर ंिसह कानूनगो, पकंज चतुर्वेदी, सुभाष यादव, विवेक पाण्डेय, गौरब, मनीष, प्रदीप, अर्पित चतुर्वेदी सहित आदि तमाम लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here