फर्जीवाड़े के संबंध में ग्रामीणों ने दिया ज्ञापन

0
88

रायबरेली(ब्यूरो)- ग्रामीणों का कहना है कि विद्यालय के पूर्व प्रबंधक शीतला मुनि स्वामी की मृत्यु के बाद उनके द्वारा गठित प्रबंधतंत्र शक्ति दास को विद्यालय का प्रबंधक नियुक्त किया गया। विद्यालय में अवैध ढंग से फर्जीवाड़ा कर के अशोक कुमार बाजपेई पुत्र ओंकारनाथ बाजपेई नई अवैध कमेटी बनाकर विद्यालय के प्रबंधक पद पर पदासीन हो गए। आजतक इनकी कमेटी का किसी प्रकार से रजिस्ट्रेशन नहीं हो हुआ व श्री बाजपेई द्वारा जो अवैध कमेटी बनाई गई है। सर्व सन्मत से उसका चयन समय सीमा 27 नवंबर 2016 को ही समाप्त हो गई, लेकिन श्री बाजपेई बिना चुनाव के ही प्रबंधक का कार्य देख रहे हैं।

विद्यालय के वर्तमान प्रबंधक गलत ढंग से पिछले तारीख 18 दिसंबर 2016 से ही चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराने का प्रयास कर रहे हैं। इस नए चुनावी समित में अपने बच्चों को भी महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्त कर रहे हैं। वर्ष 2008 में शासन के आदेशानुसार बेसिक संचालक मंडल के सदस्यों के द्वारा ही विद्यालय का संचालन वैद्य है व गलत ढंग से बने हुए प्रबंधक अशोक कुमार बाजपेई आए दिन अनियमिता कर के अध्यापकों का शोषण कर रहे हैं। वही तत्काल ई प्रबंधक को डरा-धमकाकर दबंगई के बल पर उसे अपदस्थ करके खुद प्रबंधक बन गए हैं। क्योंकि वह प्रबंधक बाहर के रहने वाले थे व डर के कारण आज तक विद्यालय नहीं आए।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY